14/10/15

जिया बेकरार है छाई बहार है// Jiya Beqarar Hai Chhayee Bahar -बरसात

Jiya Beqarar Hai Chhayee Bahar
जिया बेकरार है  छाई  बहार  है
बरसात,
lata mangeshkar 

     SONG 
जिया बेकरार है छाई बहार है,
आजा मोरे बलमा, तेरा इंतज़ार है..


हो, सूरज देखे चंदा देखे सब देखे हम तरसे हो,
सब देखे हम तरसे..
जैसे बरसे कोई बदरिया वैसे अंखियां बरसे..
वैसे अंखिया बरसे
जिया बेकरार है..


हो, नैनो से एक तारा टूटे मिटटी मे मिल जाये हो, मिटटी मे मिल जाये..
आंसू की बरसात बलमवा दिल मे आग लगाए..
दिल मे आग लगाए
जिया बेकरार है ...


हो, तुझको नज़रे ढूंढ रही है मुखड़ा तो दिखला जा हो,
मुखड़ा तो दिखला जा..
रस्ते पर हू आस लगाए, जाने वाले आजा..
जाने वाले आजा
जिया बेकरार है ...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें