बुधवार, 30 मार्च 2016

इतना ना मुझसे तू प्यार बढ़ा itna na mujhse tu pyar badha..talat mehmood-lata-chhaya

इतना ना मुझसे तू प्यार बढ़ा,
 itna na mujhse tu pyar badha,
 talat mehmood, lata,
1961
film- chaya
:        गाना
talat 
इतना न मुझसे तू प्यार बढ़ा
के मैं एक बादल आवारा
कैसे किसी का सहारा बनूँ
के मैं खुद बेघर बेचारा
इतना न.....

lata  
मुझे एक जगह आराम नहीं
रुक जाना मेरा काम नहीं
मेरा साथ कहाँ तक दोगी तुम 
मै देश विदेश का बंजारा

lata 
इस लिये तुझसे प्यार करूं
के तू एक बादल आवारा
जनम जनम से हूँ साथ तेरे 
के नाम मेरा जल की धारा




lata 
ओ नील गगन के दीवाने
तू प्यार न मेरा पहचाने
मैं तब तक साथ चलूँ तेरे
जब तक न कहे तू मैं हारा

talat 
क्यूँ प्यार में तू नादान बने
इक बादल का अरमान बने
मेरा साथ कहाँ तक दोगी तुम
मैं देस बिदेस का बंजारा
इतना न....


talat 
मदहोश हमेशा रहता हूँ
खामोश हूँ कब कुछ कहता हूँ
कोई क्या जाने मेरे सीने में
है बिजली का भी अंगारा

talat 
अरमान था गुलशन पर बरसूँ
एक शोख के दामन पर बरसूँ
अफ़सोस जली मिट्टी पे मुझे
तक़दीर ने मेरी दे मारा
इतना न....---

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें