11/4/16

बचपन की मूहोब्बत को //BACHPAN KI MOHABBAT KO-Baiju Bawra.flv


बचपन की मूहोब्बत को,
BACHPAN KI MOHABBAT KO
बैजु बावरा,
लता,
1952,

    गाना 

बचपन की मोहब्बत को दिल से न जुदा करना
जब याद मेरी आए मिलने की दुआ करना
घर मेरी उम्मीदों का सूना किए जाते हो
दुनिया ऐ मुहब्बत की लूटे लिए जाते हो
जब याद मेरी आए ...
जो ग़म दिए जाते हो उस ग़म की दुआ करना
सावन में पपीहा का सँगीत सुनाऊँगी

फ़रियाद तुझे अपनी गा-गा कर सुनाऊँगी
आवाज़ मेरी सुन के दिल थाम लिया करना
जब याद मेरी आए ...



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें