7/4/16

तू जाने ना Kailash Kher Tu Jaane

तू जाने ना
 कैलाश खेर
 tu jane na,
kailash kher,
 ajab prem ki gajab kahani

     SONG

कैसे बताये क्यूँ तुझको चाहें, यारा बता न पाएं 
बातें दिलों की, देखो जो बाकी, आँखें तुझे समझाएं 
तू जाने ना...तू जाने ना...

मिलके भी हम ना मिले तुमसे न जाने क्यूँ
मीलों के हैं फासले तुमसे न जाने क्यूँ 
अनजाने हैं सिलसिले तुमसे न जाने क्यूँ
सपने हैं पलकों तले तुमसे न जाने क्यूँ

कैसे बताये क्यूँ तुझको चाहें, यारा बता न पाएं 
बातें दिलों की, देखो जो बाकी, आँखें तुझे समझाएं 
तू जाने ना...तू जाने ना...

निगाहों में देखो मेरी जो है बस गया
वो है मिलाता तुमसे हुबहू
वो.. जाने तेरी आँखें थी या बातें थी वजह
हुए तुम जो दिल की आरजू
तुम पास हो के भी, तुम आस हो के भी
एहसास हो के भी अपने नहीं
ऐसे हैं हमको गिले तुमसे न जाने क्यूँ
मीलों के हैं फासले तुमसे न जाने क्यूँ

कैसे बताये क्यूँ तुझको चाहें, यारा बता न पाएं 
बातें दिलों की, देखो जो बाकी, आँखें तुझे समझाएं 
तू जाने ना...तू जाने ना...
तू जाने ना...तू जाने ना...

ख्यालों में लाखों बातें यूं तो कह गया
बोला कुछ ना तेरे सामने
हो.. हुए न बेगाने भी तुम हो के और के
देखो तुम न मेरे ही बने
अफ़सोस होता है दिल भी ये रोता
सपने संजोता है पगला हुआ
सोचे ये हम थे मिले तुमसे न जाने क्यूँ
मीलों के है फासले तुमसे न जाने क्यूँ

कैसे बताये क्यूँ तुझको चाहें, यारा बता न पाएं 
बातें दिलों की, देखो जो बाकी, आँखें तुझे समझाएं 
तू जाने ना...तू जाने ना...
तू जाने ना...तू जाने ना...


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें