11/4/16

मोहे भूल गए साँवरिया mohe bhool gaye sanwariya..Lata- Shakeel Badayuni- Naushad - Baiju Bawra...

बैजु बावरा,
 मोहे भूल गए साँवरिया,
 लता,
 baiju bawara
, mohe bhool gaye sanwariya
Lata, 
1952

गाना
जो मैं ऐसा जानती
के प्रीत किये दुख होय
नगर ढिंढोरा पीटती
के प्रीत न करियो कोय

मोहे भूल गए साँवरिया, भूल गए साँवरिया
आवन कह गये, अजहुं न आये
लीनी न मोरी खबरिया
मोहे भूल गए...




दिल को दिए क्यों दुख बिरहा के
तोड़ दिया क्यों महल बना के
आस दिला के ओ बेदर्दी
फेर ली काहे नजरिया
मोहे भूल गए...

नैन कहे रो-रो के सजना
देख चुके हम प्यार का सपना
प्रीत है झूठी, प्रीतम झूठा
झूठी है सारी नगरिया
मोहे भूल गए...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें