13/4/16

ओह रे ताल मिले नदी के जल मेंOh re taal mile nadi ke jal me

ओह रे ताल मिले नदी के जल में,
Oh re taal mile nadi ke jal me,
1968,
mukesh
film- Anokhi raat


           

SONG 













ओह रे ताल मिले नदी के जल मे
नदी मिले सागर मे
सागर मिले कौनसे जल मे
कोई जाने ना...
सूरज को धरती तरसे
धरती को चन्द्रमा
पानी मे सीप जैसे प्यासी हर आत्मा
बूंद छिपी किस बादल मे
कोई जाने ना
ओह रे ताल...
अनजाने होठो पर क्यो पहचाने गीत है
कल तक जो बेगाने थे जन्मो के मीत है
क्या होगा कौनसे पल मे
कोई जाने ना

ओह रे ताल.


..

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें