23/5/16

Leader - Tere Husn Ki Kya Tareef - Mohd Rafi - Lata Mangeshkar

Tere Husn Ki Kya Tareef ,
 Mohd Rafi,  Lata Mangeshkar,
गीतकार : शकिल बदायुनी,
 गायक : लता - रफी, 
संगीतकार : नौशाद, 
चित्रपट : लीडर
 १९६४

     


SONG


रफ़ी:
तेरे हुस्न की क्या तारीफ़ करूँ
कुछ कहते हुए भी डरता हूँ


तेरे हुस्न की क्या तारीफ़ करूँ

तेरे हुस्न की
कुछ कहते हुए भी डरता हूँ
तेरे हुस्न की क्या तारीफ़ करूँ
की मैं तुझसे मोहब्बत करता हूँ
कहीं भूल से तू ना समझ बैठे


मेरे दिल में कसक सी होती है
लता: मेरे दिल में कसक सी होती है, मेरे दिल में
की मैं तुझसे मोहब्बत करती हूँ
तेरे राह से जब मैं गुज़रती हूँ
इस बात से ये ना समझ लेना


कोई देख ले तुझको एक नजर
रफ़ी: (तेरी बात मे गीतों की सरगम
तेरी चाल मे पायल की छम छम
मर जाएं तेरी आँखों कसम
की मैं तुझसे मोहब्बत करता हूँ
मैं भी हूँ अजब इक दीवाना
मरता हूँ ना आहें भरता हूँ
कहीं भूल से तू ना समझ बैठे


दोनो: आ...


दिल जाने कहाँ खो जाता है
लता: (मेरे सामने जब तू आता है
जी धक से मेरा हो जाता है
लेती है तमन्ना अंगड़ायी
महसूस ये होता है मुझको
कुछ कहते हुए भी डरता हूँ
जैसे मैं तेरा दम भरती हूँ
इस बात से ये ना समझ लेना
की मैं तुझसे मोहब्बत करती हूँ


रफ़ी: तेरे हुस्न की क्या तारीफ़ करूं
की मैं तुझसे मोहब्बत करता हूँ
कहीं भूल से तू ना समझ बैठे

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें