8/5/16

चाँद मेरा दिल चाँदनी हो तुम// Muhammad Rafi - Chand Mera Dil Chandni Ho Tum - Hum Kisi Se Kum Nahi...

चाँद मेरा दिल चाँदनी हो तुम 
Chand Mera Dil Chandni Ho Tum
रफी,
हम किसी से कम नहीं 
1977

      SONG
चाँद मेरा दिल, चाँदनी हो तुम
चाँद से है दूर, चाँदनी कहाँ
जा रहे हो तुम, जाओ मेरी जां
लौट के आना, है यहीं तुमको



मिलेगा सच्चा प्यार मुश्किल से
वैसे तो हर क़दम, मिलेंगे लोग सनम
दिल से दिल है मिलता यार मुश्किल से
दिल की दोस्ती, खेल नहीं कोई
यही तो है सनम, प्यार का ठिकाना
आ, दिल क्या, महफ़िल है तेरे
मैं हूँ, मैं हूँ, मैं हूँ ...
चाँद मेरा दिल ...
क़दमों में आ, दिल क्या, महफ़िल है तेरे


जाने वफ़ा, तुझपे मैं फ़िदा, हो हो हो
दुनिया की बहारें तेरे लिये
चाँद सितारे तेरे लिये, ओ ...
जाने अदा, हो हो हो, जाने वफ़ा
जाने वफ़ा, तुझपे मैं फ़िदा
ओ तुम क्या जानो, मुहब्बत क्या है
हो, आ, दिल क्या, महफ़िल है तेरे
क़दमों में आ, दिल क्या, महफ़िल है तेरे
दुनिया ...
आ, दिल क्या ...
दिल की महफ़िल ये महफ़िल नहीं दिल है
और तू मेरे लिये
मिल गया हमको साथी मिल गया
हमसे गर कोई जल गया
हो हो जलने दे
चल गया प्यार का जादु चल गया
हो हो चलने दे
तेरे लिये, ज़माना तेरे लिये


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें