शुक्रवार, 6 मई 2016

ओ बसंती पवन पागल न जा रे o basanti pavan pagal na ja

 ओ बसंती पवन पागल न जा रे,
  O basanti pavan pagal na ja,
jis desh me ganga bahati hai ,
lata ,

             SONG
ओ बसंती पवन पागल, ना जा रे ना जा, रोको कोई
ओ बसंती ...
बन के पत्थर हम पड़े थे, सूनी सूनी राह में
जी उठे हम जब से तेरी, बांह आई बांह में
बह उठे नैनों के काजल, ना जा रे ना जा, रोको कोई
ओ बसंती ...
याद कर तूने कहा था, प्यार से संसार है
हम जो हारे दिल की बाजी, ये तेरी ही हार है
सुन ये क्या कहती है पायल, ना जा रे ना जा, रोको कोई
ओ बसंती--
 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें