गुरुवार, 12 मई 2016

तेरा दीदार हुआ Tera Deedar Hua - Jannat 2 | Emraan Hashmi | Esha Gupta

तेरा दीदार हुआ
  Tera Deedar Hua 
Jannat 2
Rahat Fateh Ali Khan
2012

    

song
यूं तेरा मुस्कुराना और आके चले जाना
यूं तेरा मुस्कुराना और आके चले जाना
किस्मत का है खुल जाना, तेरा दीदार हुआ
पहला सा प्यार हुआ, पहली ही बार हुआ इस दिल को
ना तो इंकार हुआ, ना ही इकरार हुआ
जाने क्या यार हुआ इस दिल को
यूं तेरा मुस्कुराना और आके चले जाना

किस्मत का है खुल जाना
तेरा दीदार हुआ पहला सा प्यार हुआ, पहली ही बार हुआ इस दिल को
ना तो इंकार हुआ, ना ही इकरार हुआ
जाने क्या यार हुआ इस दिल को


तुझसे मिला तो जागी दुआए और नज़र ने सजदा किया
जन्नत जमी पे आई उतर के खुशियों ने जैसे चून सा लिया
तुझसे मिला तो जागी दुआए और नज़र ने सजदा किया
जन्नत जमी पे आई उतर के खुशियों ने जैसे चून सा लिया
हर मज्ज़र दिलनशी है, तु ही तू हर कहीं है
हाँ तेरी ये अदाए तो है सारी कातिलाना
तेरा दीदार हुआ पहला सा प्यार हुआ, पहली ही बार हुआ इस दिल को
ना तो इंकार हुआ, ना ही इकरार हुआ
जाने क्या यार हुआ इस दिल को


तेरे बिना मैं तनहा था हर पल, होठो पे हरदम थी तिशनगी
मकशद नहीं था सपने नहीं थे, थी ज़िन्दगी में आवारगी
तू मेरा रहनुमा है, मंजिल है रास्ता है
हो मेरे लिए तू तो जैसे रब का है नजराना
तेरा दीदार हुआ पहला सा प्यार हुआ, पहली ही बार हुआ इस दिल को
ना तो इंकार हुआ, ना ही इकरार हुआ
जाने क्या यार हुआ इस दिल को
यूं तेरा मुस्कुराना और आके चले जाना
यूं तेरा मुस्कुराना और आके चले जाना
किस्मत का है खुल जाना, तेरा दीदार हुआ
पहला सा प्यार हुआ, पहली ही बार हुआ इस दिल को



ना तो इंकार हुआ, ना ही इकरार हुआ
जाने क्या यार हुआ इस दिल को


    IN ENGLISH
yu tera muskurana aur aake chale jana
yu tera muskurana aur aake chale jana
kismat ka hai khul jana, tera didar hua
pehla sa pyar hua, pehli hi bar hua is dil ko
na toh inkaar hua, na hi ikraar hua
jaane kya yaar hua is dil ko
yu tera muskurana aur aake chale jana
kismat ka hai khul jana, tera didar hua
pehla sa pyar hua, pehli hi bar hua is dil ko
na toh inkaar hua, na hi ikraar hua
jaane kya yaar hua is dil ko


tujhse mila toh jaagi duvaye aur nazar ne sazda kiya
jannat zami pe aayi utar ke khushiyo ne jaise chun sa liya
tujhse mila toh jaagi duvaye aur nazar ne sazda kiya
jannat zami pe aayi utar ke khushiyo ne jaise chun sa liya
har manjar dilnashi hai, tu hi tu har kahi hai
ho teri ye adaaye toh hai saari katilana
tera didar hua pehla sa pyar hua, pehli hi bar hua is dil ko
na toh inkaar hua, na hi ikraar hua
jaane kya yaar hua is dil ko


tere bina main tanha tha har pal, hotho pe hardam thi tishnagi
maksad nahi tha sapne nahi the, thi zindagi me aawargi
tu mera rahnuma hai, manjil hai rasta hai
ho mere liye tu toh jaise rab ka hai nazrana, tera didar hua
pehla sa pyar hua, pehli hi bar hua is dil ko
na toh inkar hua, na hi ikrar hua
jaane kya yaar hua is dil ko
yu tera muskurana aur aake chale jana
yu tera muskurana aur aake chale jana
kismat ka hai khul jana, tera didar hua
pehla sa pyar hua, pehli hi bar hua is dil ko
na toh inkaar hua, na hi ikraar hua
jaane kya yaar hua is dil ko



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें