सोमवार, 9 मई 2016

तुम जियो हजारों साल Tum Jiyo Hazaaron Saal -ASHA BHOSLE- NEW DIGITAL AUDIO SERIES-Sujata-1959

तुम जियो हजारों साल
 Tum Jiyo Hazaaron Saal
 ASHA BHOSLE
Sujata
1959


        SONG
तुम जियो हज़ारों साल
साल के दिन हों पचास हज़ार

सूरज रोज़ आता रहे रोज़ गाता रहे
लेके किरणों के मेले
पलछिन कलियाँ गिन गिन तेरा हर दिन
तब तक रँगों से खेलें
रँग जब तक बाकी है बहारों में
यहाँ वहाँ शाम हो चाहे जहाँ


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें