शुक्रवार, 3 जून 2016

आज दिल पे कोई ज़ोर चलता नहीं Aaj dil pe koi zor chalta nahi (Lata)

आज दिल पे कोई ज़ोर चलता नहीं ,
Aaj dil pe koi zor chalta nahi ,
लता मंगेशकर
Film: Milan
संगीतकार -लक्ष्मीकांत - प्यारेलाल-
  



SONG

आज दिल पे कोई ज़ोर चलता नहीं
मुस्कुराने लगे थे मगर रो पड़े
रोज़ ही की तरह आज भी दर्द था
और अब क्या कहें, क्या हुआ है हमें
हम छुपाने लगे थे मगर रो पड़े


बस यही जान लो तो बहुत हो गया
तुम तो हो बेखबर, हम भी अन्जान हैं
मुस्कुराते हुए हम बहाना कोई
हम भी रखते हैं दिल, हम भी इन्सान हैं
फ़िर बनाने लगे थे मगर रो पड़े


कश्तियों के लिये ये भंवर भी तो हैं
हैं सितारे कहाँ इतने आकाश पर
हर एक को अगर इक सितारा मिले
क्या ज़रूरी है हर एक को किनारा मिले
आज क्यूं के हमें ये हुई है खबर
बस यही सोच कर हम बढ़े चैन से
डूब जाने लगे थे मगर रो पड़े


उम्र भर काश हम यूं ही रोते रहे
मुस्कुराहट की तो कोई कीमत नहीं
लौट जाने लगे थे मगर रो पड़े
आँसुओं से हुई है हमारी कदर
बादलों की तरह हम तो बरसे बिना

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें