25/6/16

तुम न जाने किस जहां मे खो गए// Tum na jane kis jahan me kho gaye..Sazaa1951- Lata -Sahir - S D Burman.....


तुम न जाने किस जहां मे खो गए ,
Tum na jane kis jahan me kho gaye,
Sazaa,
1951,
Lata,


   SONG


तुम न जाने किस जहाँ में खो गये
हम भरी दुनिया में तनहा हो गये
एक जां और लाख ग़म, घुट के रह जाये न दम
तुम न जाने किस जहाँ में ...


लूट कर मेरा जहाँ छुप गये हो तुम कहाँ
आओ तुम को देख लें, डूबती नज़रों से हम
तुम कहाँ, तुम कहाँ, तुम कहाँ
दिल को ये क्या हो गया, कोई शह भाती नहीं
तुम न जाने किस जहाँ में ...


मौत भी आती नहीं, रात भी जाती नहीं
तुम न जाने किस जहाँ में ...
लूट कर मेरा जहाँ छुप गये हो तुम कहाँ
तुम कहाँ, तुम कहाँ, तुम कहाँ


---

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें