22/7/17

छोड़ दे सारी दुनिया /फ़िल्म- सरस्वतीचन्द्र,

छोड़ दे सारी दुनिया 
फ़िल्म- सरस्वतीचन्द्र, 
संगीत- कल्यानजी आनन्दजी, 
गायिका- लता मंगेशकर 
Image result for छोड़ दे सारी दुनिया किसी के लिये
    SONG 
छोड़ दे सारी दुनिया
(छोड़ दे सारी दुनिया किसी के लिये
ये मुनासिब नहीं आदमी के लिये) (२)
प्यार से ज़रूरी कई काम है
प्यार सब कुछ नहीं ज़िन्दगी के लिये
छोड़ दे सारी दुनिया किसी के लिये

तन से तन का मिलन हो न पाया तो क्या
मन से मन का मिलन कोई कम तो नहीं (२)
ख़ुशबू आती रहे दूर से ही सही
सामने हो चमन कोई कम तो नहीं (२)
चाँद मिलता नहीं सबको संसार में (२)
है दिया ही बहुत रोशनी के लिये
छोड़ दे सारी दुनिया किसी के लिये

कितनी हसरत से तकती है कलियाँ तुम्हें
क्यूँ बहारों को फिर से बुलाते नहीं (२)
एक दुनिया उजड़ ही गई है तो क्या
दूसरा तुम जहाँ क्यूँ बसाते नहीं (२)
दिल ना चाहे भी तो साथ संसार के (२)
चलना पड़ता है सब की ख़ुशी के लिये
छोड़ दे सारी दुनिया किसी के लिये
ये मुनासिब नहीं आदमी के लिये
प्यार से ज़रूरी कई काम है
प्यार सब कुछ नहीं ज़िन्दगी के लिये
छोड़ दे सारी दुनिया किसी के लिये

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें