अच्छा जी मैं हारी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
अच्छा जी मैं हारी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

12/10/15

अच्छा जी मैं हारी -काला पानी 1958

अच्छा जी मैं हारी
गीतकार : मजरुह सुलतानपुरी,
गायक : आशा - रफी,
संगीतकार : सचिनदेव बर्मन,
chitrapat : काला पानी (१९५८) /
Lyricist : Majrooh Sultanpuri,
Singer : Asha Bhosle - Mohammad Rafi,
Music Director : Sachindev Burman,
Movie : Kala Pani
1958


           SONG

अच्छा जी मैं हारी, चलो, मान जाओ ना
देखी सबकी यारी, मेरा दिल, जलाओ ना

छोटे से क़ुसूर पे, ऐसे हो खफ़ा
रूठे तो हुज़ूर थे, मेरी क्या खता
देखो दिल ना तोड़ो
छोड़ो हाथ छोड़ो
छोड़ दिया तो हाथ मलोगे, समझे?
अजी समझे!
अच्छा जी मैं हारी, चलो...

जीवन के ये रास्ते, लम्बे हैं सनम
काटेंगे ये ज़िंदगी, ठोकर खा के हम
ज़ालिम साथ देले
अच्छे हम अकेले
चार कदम भी चल न सकोगे, समझे?
हाँ समझे!
अच्छा जी मैं हारी, चलो...

जाओ रह सकोगे ना, तुम भी चैन से
तुम तो खैर लूटना जीने के मज़े
क्या करना है जी के
हो रहना किसी के
हम ना रहे तो याद करोगे, समझे?
समझे!
अच्छा जी मैं हारी, चलो.



*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका  के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि