आशा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
आशा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

13/10/19

जाने हम सड़क के लोगों से-मोहम्मद रफी


जाने हम सड़क के - Jaane Hum Sadak Ke (Md Rafi, Aasha)

Movie/Album: आशा (1980)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मोहम्मद रफी


जाने हम सड़क के लोगों से
महलों वाले क्यों जलते हैं
ये ऊँचे महलों वाले भी
इन सड़कों पर ही चलते हैं
जाने हम सड़क के...

गुमनाम हैं हम मशहूर हैं वो
इस बात पे क्यों मग़रूर हैं वो
हमने उनको ये नाम दिया
जिस नाम पे आप मचलते हैं
जाने हम सड़क के...

ये हँसते हैं लेकिन दिल में
ये गाते हैं पर महफ़िल में
हममें इनमें है फ़र्क़ बड़ा
हम जीते हैं ये पलते हैं
जाने हम सड़क के...

अच्छे के बुरे हम कैसे हैं
हम कैसे हैं जी हम कैसे हैं
हम जैसे थे, हम वैसे हैं
इन्सान नहीं वो मौसम हैं
जो वक़्त के साथ बदलते हैं
जाने हम सड़क के...


10/7/16

हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो


हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो
फिल्म- प्यासा
आशा,रफी


   Song 

हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो
हम मूँद के पलकों को, इस दिल को सज़ा दें तो
इन ज़ुल्फ़ों में गूँधेंगे, हम फूल मुहब्बत के
हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो


हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो
ज़ुल्फ़ों को झटक कर हम, ये फूल गिरा दें तो



पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा  का  अचूक  इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका  के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 



29/3/16

राधा कैसे ना जले// Radha Kaise Na Jale - Lagaan | Aamir Khan | Gracy Singh


राधा कैसे ना जले
गीतकार : जावेद अख्तर,
गायक : आशा - उदित नारायण,
संगीतकार : ए. आर. रहमान,
 चित्रपट : लगान (२००१) /
 Lyricist : Javed Akhtar,
Singer : Asha Bhosle - Udit Narayan,
Music Director : A. R. Rahman,
Movie : Lagaan (2001)
          गीत

मधुबन में जो कन्हैया
किसी गोपी से मिले
कभी मुस्काये, कभी छेड़े
कभी बात करे
राधा कैसे न जले
राधा कैसे न जले
आग तनमन में लगे
राधा कैसे न जले
राधा कैसे न जले

मधुबन में भले कान्हा
किसी गोपी से मिले
मन में तो राधा के ही
प्रेम के हैं फूल खिले
किस लिये राधा जले
किस लिये राधा जले
बिना सोचे समझे
किस लिये राधा जले
किस लिये राधा जले...

ओ... गोपियाँ तारे हैं, चाँद है राधा
फिर क्यों है उसको विश्वास आधा
हो... गोपियाँ तारे हैं, चाँद है राधा
फिर क्यों है उसको बिसवास विश्वास आधा

कान्हा जी का जो सदा
इधर-उधर ध्यान रहे
राधा बेचारी को फिर
अपने पे क्या मान रहे

गोपियाँ आनी-जानी हैं
राधा तो मन की रानी है
गोपियाँ आनी-जानी हैं
राधा तो मन की रानी है
साँझ सखारे, जमुना किनारे
राधा राधा ही कान्हा पुकारे

ओये होए ओये होए
बाहों के हार जो डाले
कोई कान्हा के गले
राधा कैसे न जले
राधा कैसे न जले
आग तनमन में लगे
राधा कैसे न जले
राधा कैसे न जले

ना धिन धिन ना धिन धिन
ना धिन धिना धिना ओ
ना धिन धिन ना धिन धिन
ना धिन धिना धिना ओ
ना धिन धिन ना धिन धिन
ना धिन धिना धिना ओ...

मन में है राधे को कान्हा जो बसाये
तो कान्हा काहे को उसे न बताए
 प्रेम की अपनी अलग, बोली अलग, भासा है
बात नैनों से हो, कान्हा की यही आसा है
कान्हा के ये जो नैना हैं
जिनमें गोपियों के चैना हैं
कान्हा के ये जो नैना हैं
जिनमें गोपियों के चैना हैं
मिली नजरिया, हुई बावरिया
गोरी गोरी सी कोई गुजरिया

कान्हा का प्यार किसी गोपी के मन में जो पले
किस लिये राधा जले, राधा जले, राधा जले
रधा कैसे न जले...

किस लिये राधा जले
रधा कैसे न जले...
आ आ आ…
राधा कैसे न जले..


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि