नेहा दीपेश गोहील भावनगर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
नेहा दीपेश गोहील भावनगर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

16/3/19

तेरे बिन नइ लगदा दिल मेरा ढोलना-नेहा दीपेश गोहील भावनगर की दामोदर महिला संगीत मे प्रस्तुति

ओ रे पिया मैं तां तेरे लई
सौ रातां जगूँ
जित्थे जावें तू ओत्थे जावे दिल
दस की मैं करूँ
जो तू रुस जानियें, दिल ये टुट जानियें
तेरे संग-संग राहां सारी कट जानियें
जो तू रुस जानियें, दिल ये टुट जानियें
तेरे संग-संग राहां सारी कट जानियें
मै तां तेरे नाल रहना
मान इन्ना मेरा कहना
मेरी अखियों से होना कदी दूर ना
तेरे बिन, तेरे बिन
तेरे बिन नइ लगदा दिल मेरा ढोलना
तेरे बिन नइ लगदा दिल मेरा ढोलना
सब छड जाएं तू ना मेनू छोड़ना
तेरे बिन नइ लगदा दिल मेरा ढोलना
नइ लगदा, नइ लगदा, नइ लगदा
हो... नइ लगदा, नइ लगदा, नइ लगदा
तेरे संग-संग रह के
मैं रंग जाऊं तेरे रंग
तेरी नींद से ख्वाब मैं अपना जोड़ लूं
तू साथ ना हो तो
चार कदम ना चल पाऊं
तेरी राह पे राह मैं अपनी मोड़ दूं
हो... जग भूल जाए मुझे
तुम नहीं भूलना
तेरे संग जीना मेरा
तेरे संग ढलना
सच्ची चाहतों