पारसमणि लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
पारसमणि लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

14/10/19

वो जब याद आए बहुत याद आए -पारसमणि

वो जब याद आए बहुत याद आए - पारसमणि 


वो जब याद आए बहुत याद आए 
ग़म-ए-ज़िंदगी के अंधेरे में हमने 
चिराग-ए-मुहब्बत जलाए बुझाए
 आहटें जाग उठीं रास्ते 
हंस दिये थामकर दिल
 उठे हम किसी के लिये 
कई बार ऐसा भी धोखा हुआ है
 चले आ रहे हैं वो नज़रें झुकाए
 दिल सुलगने लगा अश्क़ बहने लगे
 जाने क्या-क्या हमें लोग कहने लगे
 मगर रोते-रोते हंसी आ गई है
 ख़यालों में आके वो जब मुस्कुराए
 वो जुदा क्या हुए ज़िंदगी खो गई
 शम्मा जलती रही रोशनी खो गई 
बहुत कोशिशें कीं मगर दिल न बहला
 कई साज़ छेड़े कई गीत गाए

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार