बदली से निकला है चाँद लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
बदली से निकला है चाँद लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

5/9/18

बदली से निकला है चाँद (संजोग -१९६१)

बदली से निकला है चाँद (संजोग -१९६१)

गीतकार : राजेन्द्र कृष्ण,
गायक : लता मंगेशकर,
संगीतकार : मदन मोहन,


बदली से निकला है चाँद

परदेसी पिया लौट के तू घर आजा


पूछे पता तेरा ठंडी हवायें

चुप मुझे देख के चुप हो जाये

लाये तो कैसे तुझे ढूँढ के लाये


आ के गुजर गयी कितनी बहारें

और बरस गयी कितनी पुहारें

आ जा तुझे हम कब से पुकारे


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि