मुकेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
मुकेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

25/6/19

दीवाना मुझको लोग कहें -मुकेश

दीवाना मुझको लोग कहें
film :deewana
दीवाना मुझको लोग कहे
मैं समझूँ जग है दीवाना हो
मैं समझूँ जग है दीवाना
दीवाना मुझको लोग कहे

हँसता है कोई सूरत पे मेरी
हँसता है कोई हालत पे मेरी
है कौन बुरा मालिक जाने
अंजाम से बेगाना

मैं यार की खातिर लुट जाऊँ
मैं यार की खातिर मिट जाऊँ
छोटा ही सही पर दिल है बड़ा
हर हाल पे बेगाना

दीवाना मुझको लोग कहे
मैं समझूँ जग है दीवाना हो
मैं समझूँ जग है दीवाना
दिवाना मुझको लोग कहे
किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचा

19/8/18

मेरे टूटे हुए दिल से कोई तो आज ये पूछे-मुकेश

 Film: Chhaliya
संगीतकार-  कल्याणजी - आनंदजी
गीतकार - Qamar Jalalabadi
गायक - मुकेश

    मेरे टूटे हुए दिल से कोई तो आज ये पूछे के तेरा हाल क्या है के तेरा हाल क्या है मेरे टूटे... किस्मत तेरी रीत निराली, ओ छलिये को छलने वाली फूल खिला तो टूटी डाली जिसे उलफ़त समझ बैठा, मेरी नज़रों का धोखा था किसी की क्या खता है मेरे टूटे... माँगी मुहब्बत पाई जुदाई, दुनिया मुझको रास न आई पहले कदम पर ठोकर खाई सदा आज़ाद रहते थे हमें मालूम ही क्या था मुहब्बत क्या बला है मेरे टूटे...

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि


16/8/18

किसी राह में, किसी मोड़ पर/मेरे हमसफ़र (1970)

Movie/Album: मेरे हमसफ़र (1970)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, मुकेश


किसी राह में, किसी मोड़ पर
कहीं चल न देना तू छोड़ कर
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र
किसी हाल में, किसी बात पर
कहीं चल न देना तू छोड़ कर
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र

मेरा दिल कहे कहीं ये न हो
नहीं ये न हो
किसी रोज़ तुझसे बिछड़ के मैं
तुझे ढूँढती फिरूँ दर-ब-दर
मेरे हमसफ़र...

तेरा रंग साया बहार का
तेरा रूप आईना प्यार का
तुझे आ नज़र में छुपा लूँ मैं
तुझे लग न जाए कहीं नज़र
मेरे हमसफ़र...

तेरा साथ है तो है ज़िन्दगी
तेरा प्यार है तो है रोशनी
कहाँ दिन ये ढल जाए क्या पता
कहाँ रात हो जाए क्या ख़बर
मेरे हमसफ़र...


पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि


6/5/16

हम छोड़ चले हैं महफ़िल को// Hum chod chalen hain mehfil ko /मुकेश

हम छोड़ चले हैं महफ़िल को,
 hum chod chalen hain mehfil ko 
मुकेश
       SONG

हम छोड़ चले हैं महफ़िल को याद आये कभी तो मत रोना
इस दिल को तसल्ली दे देना, घबराये कभी तो मत रोना
हम छोड़ चले हैं महफ़िल को   ...

एक ख़्वाब सा देखा था हमने
जब आँख खुली वो टूट गया
ये प्यार अगर सपना बनकर
तड़पाये कभी तो मत रोना
हम छोड़ चले हैं महफ़िल को

तुम मेरे ख़यालों में खोकर
बरबाद न करना जीवन को
जब कोई सहेली बात तुम्हें
समझाये कभी तो मत रोना
हम छोड़ चले हैं महफ़िल को   ...

जीवन के सफ़र में तनहाई
मुझको तो न ज़िन्दा छोड़ेगी
मरने की खबर ऐ, जान ए  जिगर
मिल जाये कभी तो मत रोना
हम छोड़ चले हैं महफ़िल को   ...
पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि 






-----

तू कहे अगर जीवन भर //Tu Kahe Agar Jeevan Bhar (Video Song) - Andaz

तू कहे अगर जीवन भर 
Tu Kahe Agar Jeevan Bhar
अंदाज़ 
मुकेश 
1949 

      SONG



तू कहे अगर, तू कहे अगर तू कहे अगर जीवन भर मैं गीत सुनाता जाऊं मन बीन बजाता जाऊं तू कहे अगर मैं साज़ हूँ तू सरगम है देती जा सहारे मुझको मैं राग हूँ तू बीणा है इस दम जो पुकारे तुझको आवाज़ में तेरी हर दम आवाज़ मिलाता जाऊं आकाश पे छाता जाऊं तू कहे अगर इन बोलों में, तू ही तू है मैं समझूँ या तू जाने, हो जाने इनमें है कहानी मेरी, इनमें है तेरे अफ़साने इनमें है तेरे अफ़साने तू साज़ उठा उल्फ़त का मैं झूम के गाता जाऊं सपनों को जगाता जाऊं तू कहे अगर


पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा  का  अचूक  इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका  के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 


----

13/4/16

ओह रे ताल मिले नदी के जल मेंOh re taal mile nadi ke jal me

ओह रे ताल मिले नदी के जल में,
Oh re taal mile nadi ke jal me,
1968,
mukesh
film- Anokhi raat


         

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

भजन सरोवर

herbal Upchar

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

kavya Manjusha

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

घरेलू,आयुर्वेदिक,प्राकृतिक उपचार

आध्यात्म,साहित्य,इतिहास,सामान्य ज्ञान

उपचाए एवं आरोग्य

आध्यात्म,साहित्य,इतिहास,सामान्य ज्ञान

Enter your email address:

Translate

पाठक संख्या

विशिष्ट पोस्ट

तेरे बिन नइ लगदा दिल मेरा ढोलना-नेहा दीपेश गोहील भावनगर की दामोदर महिला संगीत मे प्रस्तुति

ओ रे पिया मैं तां तेरे लई सौ रातां जगूँ जित्थे जावें तू ओत्थे जावे दिल दस की मैं करूँ जो तू रुस जानियें, दिल ये टुट जानियें तेरे संग-संग...

मेरी ब्लॉग सूची

"herbal Upchar

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

सरल नुस्खे सेहत उपकार

उपचार और आरोग्य

लेबल