रफी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
रफी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

28/6/17

तेरी दुनिया से दूर चले होके मजबूर हमे याद रखना


तेरी दुनिया से दूर चले होके मजबूर हमे याद रखना
Song: Teri Duniya Se Dur Chale Hoke Majboor
Movie: Zabak (1961)
Singer: Lata Mangeshkar, Mohammad Rafi
Music: Chitragupt
Lyrics: Prem Dhawan



            गाना 
तेरी दुनिया से दूर,
चले हो के मजबूर,
हमें याद रखना

तेरी दुनिया से दूर,
चले हो के मजबूर,
हमें याद रखना

जाओ कही भी सनम
तुम्हे इतनी कसम
हमें याद रखना

जाओ कही भी सनम
तुम्हे इतनी कसम
हमें याद रखना

तेरी दुनिया से दूर

आयेंगी बहारें
तो तेरे ही फसाने
सुनायेंगी हमें

होगी तनहाई
तो आ के तेरी यादे
रुलायेंगी हमें
रुलायेंगी हमें,
तड़पायेंगी हमें

कभी देखी थी बहार,
कभी हम से था प्यार,
ज़रा याद रखना

ले जा जानेवाले
दुआयें मेरे दिल की,
किसी से क्या गिला
ले जा जानेवाले
दुआयें मेरे दिल की,
किसी से क्या गिला

तेरी ही खता है ना
मेरी ही खता है,
जो होना था हुआ
जो होना था हुआ,
है किसी से क्या गिला

देखो रोए मेरा प्यार,
कहे दिल की पुकार,
हमें याद रखना

तेरी दुनिया से दूर,
चले हो के मजबूर,
हमें याद रखना

जाओ कही भी सनम
तुम्हे इतनी कसम
हमें याद रखना

तेरी दुनिया से दूर


पुदीने के फायदे // Benefits of Mint

मलेरिया रोग के आयुर्वेदिक घरेलू उपचार

खून की कमी (रक्ताल्पता) की घरेलू चिकित्सा

सिर्फ आपरेशन से ही नहीं ,घरेलू आयुर्वेदिक तरीके से पाएँ बवासीर से छुटकारा

हल्दी के रोग नाशक उपचार



--

10/7/16

हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो


हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो
फिल्म- प्यासा
आशा,रफी


   Song 

हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो
हम मूँद के पलकों को, इस दिल को सज़ा दें तो
इन ज़ुल्फ़ों में गूँधेंगे, हम फूल मुहब्बत के
हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो


हम आप की आँखों में, इस दिल को बसा दें तो
ज़ुल्फ़ों को झटक कर हम, ये फूल गिरा दें तो



पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा  का  अचूक  इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका  के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 



9/5/16

कह दो कोई न करे यहाँ प्यार// KEH DO KOI NA KARE YAHAN PYAR Goonj Uthi Shahnai YouTube

कह दो कोई  न करे यहाँ प्यार,
  KEH DO KOI NA KARE YAHAN PYAR,
   Goonj Uthi Shahnai,
   रफी 

            SONG

कह दो कोई न करे यहाँ प्यार
इस में ख़ुशियाँ हैं कम
एक हँसी और आँसू हज़ार
बेशुमार हैं ग़म
कह दो कोई न ...


उसकी ही लौ में वो जल-जल मरे
प्रीत पतंगा दीये से करे
मुश्किल राहें यहाँ


अश्क और आहें यहाँ
इस में चैन न कोई करार
कह दो कोई न ...
ये अनोखा जहाँ
हमने तो समझा था फूल खिले
चुन-चुन के देखा तो काँटे मिले
हरदम धोका यहाँ
कह दो कोई न करे यहाँ प्यार
इस वीराने में कैसी बहार


8/5/16

चाँद मेरा दिल चाँदनी हो तुम// Muhammad Rafi - Chand Mera Dil Chandni Ho Tum - Hum Kisi Se Kum Nahi...

चाँद मेरा दिल चाँदनी हो तुम 
Chand Mera Dil Chandni Ho Tum
रफी,
हम किसी से कम नहीं 
1977

      SONG

चाँद मेरा दिल, चाँदनी हो तुम
चाँद से है दूर, चाँदनी कहाँ
जा रहे हो तुम, जाओ मेरी जां
लौट के आना, है यहीं तुमको



मिलेगा सच्चा प्यार मुश्किल से
वैसे तो हर क़दम, मिलेंगे लोग सनम
दिल से दिल है मिलता यार मुश्किल से
दिल की दोस्ती, खेल नहीं कोई
यही तो है सनम, प्यार का ठिकाना
आ, दिल क्या, महफ़िल है तेरे
मैं हूँ, मैं हूँ, मैं हूँ ...
चाँद मेरा दिल ...
क़दमों में आ, दिल क्या, महफ़िल है तेरे


जाने वफ़ा, तुझपे मैं फ़िदा, हो हो हो
दुनिया की बहारें तेरे लिये
चाँद सितारे तेरे लिये, ओ ...
जाने अदा, हो हो हो, जाने वफ़ा
जाने वफ़ा, तुझपे मैं फ़िदा
ओ तुम क्या जानो, मुहब्बत क्या है
हो, आ, दिल क्या, महफ़िल है तेरे
क़दमों में आ, दिल क्या, महफ़िल है तेरे
दुनिया ...
आ, दिल क्या ...
दिल की महफ़िल ये महफ़िल नहीं दिल है
और तू मेरे लिये
मिल गया हमको साथी मिल गया
हमसे गर कोई जल गया
हो हो जलने दे
चल गया प्यार का जादु चल गया
हो हो चलने दे
तेरे लिये, ज़माना तेरे लिये


पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा  का  अचूक  इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका  के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि


6/5/16

कभी न कभी कहीं न कहीं // Kabhi na kabhi, kahin na kahin, koi na koi to aayega"- SHARABI

कभी न कभी कहीं न कहीं
 Kabhi na kabhi, kahin na kahin, koi na koi to aayega
SHARABI
रफी 

       SONG
कभी न कभी कहीं न कहीं कोई न कोई तो आयेगा अपना मुझे बनायेगा दिल में मुझे बसायेगा कब से तन्हा ढूँढ राहा हूँ दुनियाँ के वीराने में खाली जाम लिये बैठा हूँ कब से इस मैखाने में कोई तो होगा मेरा साक़ी कोई तो प्यास बुझायेगा कभी न कभी ... किसी ने मेरा दिल न देखा न दिल का पैग़ाम सुना मुझको बस आवारा समझा जिस ने मेरा नाम सुना अब तक तो सब ने ठुकराया कोई तो पास बिठायेगा कभी न कभी ... कभी तो देगा सन्नाटे में प्यार भरी आवाज़ कोई कौन ये जाने कब मिल जाये रस्ते में हम्राज़ कोई मेरे दिल का दर्द समझ कर दो आँसु तो बहायेगा कभी न कभी ...

13/4/16

रुख से ज़रा नकाब Rukh Se Zara Naqaab

रुख से ज़रा नकाब ,
 Rukh Se Zara Naqaab,
मेरे हजूर,
रफी,
mere hazoor,
Mohd Rafi,
 1968


                   SONG 


Khubsurat gunaah karne do, rukh se parde hataao jaane haya
Aaj dil ko tabaah karne do
Jalwa phir ek baar dikha do mere huzoor
Rukh se jara naqaab utha do, mere huzoor
Takraaya mere dil se muhabbat ka ik chaman
Woh marmari se haath, woh mehka huwa badan
Mere bhi dil ka phool khila do mere huzoor
Husn-o-jamaal aapka sheeshe mein dekhkar
Rukh se jara naqaab utha do, mere huzoor
Jalwa phir ek baar dikha do mere huzoor
Madhosh ho chuka hu main jalwon ki raah par
Tum hamsafar mile ho mujhe iss hayaat mein
Gar ho sake toh hosh mein laa do mere huzoor
Rukh se jara naqaab utha do, mere huzoor
Jalwa phir ek baar dikha do mere huzoor
Mil jaay jaise chaand koyi suni raat mein
Jalwa phir ek baar dikha do mere huzoor
Jaaoge tum kahaan yeh baata do mere huzoor
Rukh se jara naqaab utha do, mere huzoor



पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि



11/4/16

मन तडपत हरी दर्शन को// Man Tarpat Hari Darsan ko Aaj

मन तडपत हरी दर्शन को,
 Man Tarpat Hari Darsan ko Aaj,
baiju bawara,
rafi,
1952,
बैजु बावरा,
रफी
                    bhajan


 Hari om, hari om, hari om, hari om....

Man tadpat hari darshan ko aaj 

 More tum bin bigde sagare kaj
 Ho binti karat hu rakhiyo laj
 Man tadpat hari darshan ko aaj
 
 Tumre dwar kaa mai hu jogi aa aa aa aa.........
 Tumre dwar kaa mai hu jogi, humari or najar kab hogi
 Suno more vyakul mann kaa baj
 Man tadpat hari darshan ko aaj 
 
 Bin guru gyan kaha se pau aa aa aa aa.....
 Bin guru gyan kaha se pau, dijo dan hari gun gau
 Sab guni jan pe tumra raj
 Man tadpat hari darshan ko aaj 

 Murli-manohar aas naa todo

 Dukh bhanjan mora sath naa chhodo
 Man tadpat hari darshan ko aaj





किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि

दूर कोई गाये // door koi gaye.. shamshad begum- lata- mohmmad rafi -shakeel badayuni- na...

दूर कोई गाये,
 door koi gaye,
  shamshad begum
 lata,
रफी,
 बैजु बावरा,
 1952,
rafi,
 baiju bawara

     SONG 


दूर कोई गाए धुन ये सुनाए

तेरे बिन छलिया रे बाजे न मुरलिया मन के अंदर हो प्यार की अग्नि

नैना खोये-खोये कि हाय रामा नैन खोये-खोये अभी से है ये हाल तो आगे राम जाने क्या होए नींद नहीं आए बिरहा सताए

कि हाय रामा पाँव पड़ी ज़ंजीर तेरे बिन छलिया ... मोरे अँगना लाज का पहरा पाँव पड़ी ज़ंजीर याद किसी की जब-जब आए

तेरे बिन छलिया ... लागे जीया पे तीर के हाय रामा लगे जीया पे तीर

आँख भर आए जल बरसाये

ओ दुनिया के रखवाले // O Duniya Ke Rakhwale - Mohammed Rafi - BAIJU BAWARA - Meena Kumari,Bhara...

ओ दुनिया के रखवाले,
 O Duniya Ke Rakhwale,
रफी,
बेजू बावरा,
baiju bawara,
rafi,
 1952

    गाना 

ओ दुनिया के रखवाले, सुन दर्द भरे मेरे नाले
सुन दर्द भरे मेरे नाले
आश निराश के दो रंगों से, दुनिया तूने सजाई
नय्या संग तूफ़ान बनाया, मिलन के साथ जुदाई
जा देख लिया हरजाई
ओ ... लुट गई मेरे प्यार की नगरी, अब तो नीर बहा ले
अब तो नीर बहा ले
ओ ... अब तो नीर बहा ले, ओ दुनिया के रखवाले ...

आग बनी सावन की बरसा, फूल बने अंगारे
नागन बन गई रात सुहानी, पत्थर बन गए तारे
सब टूट चुके हैं सहारे, ओ ... जीवन अपना वापस ले ले
जीवन देने वाले, ओ दुनिया के रखवाले ...

चांद को ढूँढे पागल सूरज, शाम को ढूँढे सवेरा
मैं भी ढूँढूँ उस प्रीतम को, हो ना सका जो मेरा
भगवान भला हो तेरा, ओ ... क़िस्मत फूटी आस न टूटी
पांव में पड़ गए छाले, ओ दुनिया के रखवाले ...

महल उदास और गलियां सूनी, चुप\-चुप हैं दीवारें
दिल क्या उजड़ा दुनिया उजड़ी, रूठ गई हैं बहारें
हम जीवन कैसे गुज़ारें, ओ ... मंदिर गिरता फिर बन जाता
दिल को कौन सम्भाले, ओ दुनिया के रखवाले ...

ओ दुनिया के रखवाले
रखवाले
रखवाले
रखवाले

------------------------
चिकित्सा आलेख-

औरतों मे सफ़ेद पानी जाने की प्रभावी औषधि 

सोरायसिस(छाल रोग) के आयुर्वेदिक उपचार 

रोग व क्‍लेश दूर करने के आसान मंत्र

बिदारीकन्द के औषधीय उपयोग 




---

तू गंगा की मौज मे// BAIJU BAWRA=TU GANGA KI MAUJ ME JAMNA KA DHAR JHANKAR M RAFI


Movie/Album: बैजू बावरा (1952)
Music By: नौशाद अली
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

                     गीत 
अकेली मत जइयो राधे जमुना के तीर

तू गंगा की मौज, मैं जमुना का धारा
हो रहेगा मिलन, ये हमारा
हमारा, तुम्हारा रहेगा मिलन
ये हमारा तुम्हारा

अगर तू है सागर तो मझधार मैं हूँ
तेरे दिल की कश्ती का पतवार मैं हूँ
चलेगी अकेले न तुमसे ये नैय
मिलेंगी न मंज़िल तुम्हें बिन खेवैया
चले आओ जी, चले आओ जी
चले आओ मौजों का ले कर सहारा, हो रहेगा मिलन
ये हमारा तुम्हारा...
<br />
Movie/Album: बैजू बावरा (1952)
Music By: नौशाद अली
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

अकेली मत जइयो राधे जमुना के तीर

तू गंगा की मौज, मैं जमुना का धारा
हो रहेगा मिलन, ये हमारा
हमारा, तुम्हारा रहेगा मिलन
ये हमारा तुम्हारा

अगर तू है सागर तो मझधार मैं हूँ
तेरे दिल की कश्ती का पतवार मैं हूँ
चलेगी अकेले न तुमसे ये नैय
मिलेंगी न मंज़िल तुम्हें बिन खेवैया
चले आओ जी, चले आओ जी
चले आओ मौजों का ले कर सहारा, हो रहेगा मिलन
ये हमारा तुम्हारा...

भला कैसे टूटेंगे बंधन ये दिल के
बिछड़ती नहीं मौज से मौज मिल के
छुपोगे भँवर में तो छुपने न देंगे
डुबो देंगे नैया तुम्हें ढूँढ लेंगे
बनायेंगे हम, बनायेंगे हम
बनायेंगे तूफ़ाँ को लेकर किनारा, हो रहेगा मिलन
ये हमारा तुम्हारा...
भला कैसे टूटेंगे बंधन ये दिल के
बिछड़ती नहीं मौज से मौज मिल के
छुपोगे भँवर में तो छुपने न देंगे
डुबो देंगे नैया तुम्हें ढूँढ लेंगे
बनायेंगे हम, बनायेंगे हम
बनायेंगे तूफ़ाँ को लेकर किनारा, हो रहेगा मिलन
ये हमारा तुम्हारा..
.


चिकित्सा आलेख-

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका  के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 

सेक्स का महारथी बनाने और मर्दानगी बढ़ाने वाले अचूक नुस्खे 


-----

29/3/16

ले के पहला पहला प्यार Leke Pehla Pehla Pyar - Dev Anand, Shakila, Shamshad Begum, Mohd Rafi, C...



ले के पहला पहला प्यार
गीतकार : मजरुह सुलतानपुरी,
गायक : आशा - रफी - शमशाद बेगम,
संगीतकार : ओ. पी. नय्यर,
चित्रपट : सी. आय. डी. 
१९५६
Lyricist : Majrooh Sultanpuri,
Singer : Asha Bhosle - Mohammad Rafi - Shamshad Begum,
Music Director : O. P. Nayyar,


     गाना 

 लेके पहला-पहला प्यार
भर के आँखों में खुमार
जादू नगरी से आया है कोई जादूगर

उसकी दीवानी हाय कहूँ कैसे हो गई
जादूगर चला गया मैं तो यहाँ खो गई
नैना जैसे हुए चार
गया दिल का क़रार
जादू नगरी से...

तुमने तो देखा होगा उसको सितारों
आओ ज़रा मेरे संग मिल के पुकारो
दोनों हो के बेक़रार
ढूँढे तुझको मेरा प्यार
जादू नगरी से...

जब से लगाया तेरे प्यार का काजल
काली-काली बिरहा की रतियां हैं बेकल
आजा मन के श्रृंगार
करे बिन्दिया पुकार
जादू नगरी से...

मुखड़े पे डाले हुए ज़ुल्फ़ों की बदली
चली बलखाती कहाँ रुक जा ओ पगली
नैनों वाली तेरे द्वार
ले के सपने हज़ार
जादू नगरी से...



चाहे कोई चमके जी चाहे कोई बरसे
बचना है मुश्किल पिया जादूगर से
देगा ऐसा मन्तर मार
आखिर होगी तेरी हार
जादू नगरी से...

सुन-सुन बातें तेरी गोरी मुस्काई रे
आई-आई देखो-देखो आई हँसी आई रे
खेले होठों पे बहार
निकला गुस्से से भी प्यार
  

23/3/16

सुहानी रात ढल चुकी //Suhani Raat Dhal Chuki - Madhubala - Suresh - Dulari - Bollywood Songs -...

सुहानी रात ढल चुकी 
Suhani Raat Dhal Chuki 
गीतकार : शकिल बदायुनी,
 गायक : मोहम्मद रफी,
संगीतकार : नौशाद,
 चित्रपट : दुलारी /
 Lyricist : Shakeel Badayuni,
 Singer : Mohammad Rafi,
Music Director : Naushad,
Movie : Dulari 
         गाना 
सुहानी रात ढल चुकी
ना जाने तुम कब आओगे
जहाँ की रुत बदल चुकी ऽ ऽ ऽ
ना जाने तुम कब आओगे

नज़ारे ऽ ऽ ऽ अपनी मस्तियां
दिखा दिखा के सो गये
सितारे ऽ ऽ ऽ अपनी रौशनी
लुटा लुटा के सो गये
हर एक शम्मा जल चुकी
ना जाने तुम कब आओगे
सुहानी रात ढल चुकी ...

तड़प रहे हैं हम यहाँ
तुम्हारे इंतज़ार में
खिज़ा का रंग, आ चला है
मौसम-ए-बहार में
मौसम-ए-बहार में
हवा भी रुख बदल चुकी ऽ ऽ ऽ
ना जाने तुम कब आओगे

सुहानी रात ढल चुकी
ना जाने तुम कब आओगे


कान दर्द,कान पकना,बहरापन के उपचार 

नीलगिरी तेल के स्वास्थ्य लाभ

सुहागा के गुण,प्रयोग,उपचार 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार



23/10/15

बेखुदी मे सनम// Bekhudi Mein Sanam: हसीना मान जाएगी


बेखुदी मे सनम
Bekhudi Mein Sanam:
हसीना मान जाएगी
lata, rafi


    SONG

बेखुदी मे सनम उठ गए जो कदम,
आ गए, आ गए,
आ गए पास हम, आ गए पास हम...


बेखुदी मे सनम उठ गए जो कदम
आग यह कैसी मनन मे लगी है
मन से बढ़ी तो तन मे लगी है


आग नही यह दिल की लगी है
जितनी बुझाई, उतनी जली है


दिल की लगी ना हो तो क्या ज़िन्दगी है
साथ हम जो चले मिट गए फासले


आ गए, आ गए
आ गए पास हम, आ गए पास हम


बेखुदी मे सनम उठ गए जो कदम
खोयी नज़र थी, सोये नज़ारे
देखा तुम्हे तो जागे यह सारे


दिल ने किये जो दिल को इशारे
मिलके चले हम साथ तुम्हारे


आज ख़ुशी से मेरा दिल यह पुकारे
तेरा दामन मिला, प्यार मेरा खिला



आ गए, आ गए
आ गए पास हम, आ गए पास हम


बेखुदी मे सनम उठ गए जो कदम
दिल की कहानी पहोचे जुबा तक
किसको खबर अब पहोचे कहा तक


प्यार के राही आये यहा तक
जायेगे दिल की हद है जहा तक


तुम पास जो तो चले हम आसमान तक
दिल मे अरमान लिए लाख तूफ़ान लिए


आ गए, आ गए
आ गए पास हम, आ गए पास हम
बेखुदी मे सनम उठ गए जो कदम...

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि 



21/10/15

बार बार तुझे क्या समझाये // bar bar tujhe kya samjhaye payal ki jhankar -आरती

बार बार तुझे क्या समझाये पायल की झंकार
रफी, लता,
bar bar tujhe kya samajhaye,
arti,
1962


          SONG 

बार बार तोहे क्या समझाए ... पायल की झनकार ... 
तेरे बिन साजन... लागे ना जिया हमार ...
छुप छुप के करता हैं इशारें... चंदा सौ सौ बार ... 
आ तोहे सजनी ले चलूं... नदिया के पार... 
.
चलते चलते रुक गए... क्यों सजन मेरे ...
मिलते मिलते झुक गए.. क्यों नैन तेरे .... 
झुके झुके नैना करते हैं... तुमसे ये इकरार ...
तेरे बिन साजन... लागे ना जिया हमार ..
.
दरिया ऊपर चांदनी आई... संभल संभल ..
इन लहरों पर मन मेरा .. गया मचल मचल ... 
एक बात कहता हूँ तुमसे... ना करना इन्कार ... 
आ तोहे सजनी ले चलूं... नदिया के पार ..
.
ना बीते ये रात हम... मिलते ही रहे ... 
बस तारों की छाँव में ... चलते ही रहे ... 
नाम तेरा ले ले कर गाए... धड़कन का हर तार ... 
तेरे बिन साजन... लागे ना जिया हमार .
.


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि



8/9/15

दिल जो न कह सका //Dil Jo Na Keha Saka

गीतकार : मजरुह सुलतानपुरी,
संगीतकार : रोशन,
गायक : मोहम्मद रफी,
 चित्रपट : भीगी रात 
 Lyricist : Majrooh Sultanpuri,,
Music Director : Roshan,
 Singer : Mohammad Rafi,
Movie : Bheegi Raat 
1965
रफ़ी

           गाना
दिल जो न कह सका
वही राज़-ए-दिल कहने की रात आई
दिल जो न कह सका
नग्मा सा कोई जाग उठा बदन में

झनकार की सी थरथरी है तन में
मुबारक तुम्हें किसी की
लरजती सी बाहों में रहने की रात आई
दिल जो न कह सका...


तौबा ये किस ने अंजुमन सजा के
टुकड़े किये हैं गुंच-ए-वफ़ा के
उछालो गुलों के टुकड़े
के रंगीं फ़िज़ाओं में रहने की रात आई
दिल जो न कह सका...


चलिये मुबारक ये जश्न दोस्ती का
दामन तो थामा आपने किसी का
हमें तो खुशी यही है
तुम्हें भी किसी को अपना कहने की रात आई
दिल जो न कह सका...


सागर उठाओ दिल का किस को ग़म है</
आज दिल की क़ीमत जाम से भी कम है
पियो चाहे खून-ए-दिल हो
के पीते पिलाते ही रहने की रात आई
दिल जो न कह सका...


लता:
दिल जो ना कह सका

वही राज-ए-दिल, कहने की रात आई


नग्मा सा कोई जाग उठा बदन में
झनकार की सी थरथरी है तन में
प्यार की इन्हीं धड़कती फ़िज़ाओं में
रहने की रात आई...


अब तक दबी थी एक मौज-ए-अरमां
लब तक जो आई, बन गई हैं तूफां
बात प्यार की बहकती निगाहों से
कहने की रात आई...


गुज़रे ना ये शब, खोल दूँ ये जुल्फें
तुम को छुपा लूँ, मूँद के ये पलकें
बेक़रार सी लरज़ती सी छाँव में
रहने की रात आई...
किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार



6/9/15

आज पुरानी राहों से कोई मुझे //Aaj Purani Rahon Se Koi Mujhe Aawaz Na De - Mohammad Rafi.

आज पुरानी राहों  से कोई मुझे
 Aaj Purani Rahon Se Koi Mujhe Aawaz Na De
  गायक : मोहम्मद रफी,
 संगीतकार : नौशाद
/ Lyricist : Shakeel Badayuni,
Singer : Mohammad Rafi,
Music Director : Naushad,
 Movie : Aadmi 
1968

                    SONG 


Aaj purani rahon se
Koi mujhe aawaz na de
Dard mein doobey geet na de
Gham ka sisakta saz na de
Beete dinon ki yaad thi jinmein
Maein woh tarane bhool chuka
Aaj nai manzil hai meri,
Kal ke thikaane bhool chuka
Na woh dil na sanam,
Na woh deen dharam
Ab door hoon sare gunahon se
Aaj purani rahon se
Koi mujhe aawaz na de
Toot chuke sab pyar ke bandhan
Aaj koi zanjeer nahin,
Sheesha-e-dil mein armaanon ki,
Aaj koi tasveer nahin
Ab shaad hoon maein aazad hoon maein,
Kuch kaam nahin hai aahon se,
Aaj purani rahon se
Koi mujhe aawaz na de
Jeevan badalaa, duniyaan badalee,
Man ko anokhaa gyaan milaa
Aaj mujhe apane hee dil me, ek nayaa insaan mila
Pahuchaa hoo wahaa, naheen door jahaa
Bhagwaan bhee meri nigaahon se
Aaj purani rahon se
Koi mujhe aawaz n
a de


*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि


आवाज़ दे के हमे तुम बुलाओ //Aawaz Deke Hume Tum Bulao (O) - Professor (Original)


आवाज़ दे के हमे तुम बुलाओ
Aawaz Deke Hume Tum Bulao
गीतकार : हसरत जयपुरी,
गायक : लता - रफी,
संगीतकार : शंकर जयकिशन,
Lyricist : Hasrat Jaipuri,
Singer : Lata Mangeshkar - Mohammad Rafi,
Music Director : Shankar Jaikishan,
Movie : Professor 1962



                    SONG 

aawaaz de ke humein tum bulaao
mohabbat mein itanaa, naa hum ko sataao<"" />

abhee to meree zindagee hai pareshaan
kaheen mar ke ho khaak bhee naa pareshaan
diye kee tarah se naa hum ko jalaao
mohabbat mein itanaa, naa hum ko sataao

main saanson ke har taar mein chhup rahaa hoon
main dhadakan ke har raag mein bas rahaa hoon


*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि