1955 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1955 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

28/3/16

मैं गरीबों का दिल हूँ वतन की जबाँ //main garibon ka dil hoon.. film aab -e -hatat

 मैं गरीबों का दिल हूँ
 film aab -e -hatat, 
gaayak- hemant kumar 
1955,
    

मैं गरीबों का दिल, मैं मचलती सबाँ

बेकसों के लिये, प्यार का आशियाँ

मैं गरीबों का दिल …

मैं जो गाता चला, साथ महफ़िल चले

मैं जो बढ़ता चला, साथ मंज़िल चले

मुझे राह दिखाती चले बिजलियाँ

मैं गरीबों का दिल …

हुस्न भी देख कर मुझको हैरान है

इश्क़ को मुझसे मिलने का अरमान है

देखो अरमान है

अपनी दुनिया का हूँ मैं हसीं नौजवाँ

मैं गरीबों का दिल …

कारवाँ ज़िंदगानी का रुकता नहीं

बादशाहों के आगे ये झुकता नहीं

चाँद तारों से आगे मेरा आशियाँ

17/3/16

हमारे दिल से न जाना// Hamare Dil Se Na Jana... (Uran Khatola)



गीतकार : शकिल बदायुनी,
गायक : लता मंगेशकर,
 संगीतकार : नौशाद,
 चित्रपट : उडन खटोला (१९५५)

हमारे दिल से न जाना,धोका न खाना,
दुनिया बड़ी बेइमां
ओ पिया दुनिया बडी बेइमां 

हमारे दिल से न जाना,धोका न खाना,
दुनिया बड़ी बेइमां हमारे
 (मैं हूं जी प्यार की पहली निशानी)-२ 
(आँखों से आज कहूं दिल की कहानी)-२ 
ओ~ओओ~ सुन लो जी पैंया पड़ूँ हो~ओओ~ 
(देखो जी विनती करूं)-२ हो~ओओ~,
हमारे घर लाज निभाना दिल न दुखाना 
बलमा कहना मेरा मान
 ओओ~ पिया दुनिया बड़ी बेइमां 
हमारे ... 
(मीठे दो बोल यहां,मुशकिल है बोलना)-२
 (दुनिया की रीत(?) कभी,मन के न खोलना)-२ 
ओ~ओओ~ झूटी है प्रीत यहां,हो~
ओओ~ (कोई न मीत यहां)-२ 
हो~ओओ~,बुरा है आज ज़माना 
टूटे जिया ना उलझन में है मेरी जान 
ओओ~ पिया दुनिया बड़ी बेइमां हमारे ...

लीवर के रोगों के उपचार

धतूरा के औषधीय उपयोग

पुदीने के फायदे // Benefits of Mint


4/3/16

तू प्यार का सागर है .// manna dey,film seema

film seema,.
1955,
तू प्यार का सागर है,
 manna dey,


   SONG

तू प्यार का सागर है
तेरी इक बूँद के प्यासे हम
लौटा जो दिया तुमने, चले जायेंगे जहाँ से हम
तू प्यार का सागर है ...


पंख हैं कोमल, आँख है धुँधली, जाना है सागर पार
घायल मन का, पागल पंछी उड़ने को बेक़रार
जाना है सागर पार
तू प्यार का सागर है ...
अब तू हि इसे समझा, राह भूले थे कहान से हम

इधर झूमती गाये ज़िंदगी, उधर है मौत खड़ी
तू प्यार का सागर है ...
कोई क्या जाने कहाँ है सीमा, उलझन आन पड़ी
उलझन आन पड़ी
कानों में ज़रा कह दे, कि आये कौन दिशा से हम





15/10/15

ओ दूर के मुसाफिर . हमको भी साथ ले ले// उड़न खटोला

ओ दूर के मुसाफिर
गीतकार : शकिल बदायुनी,
गायक : मोहम्मद रफी,
संगीतकार : नौशाद,
 उडन खटोला
1955


 


चले आज तुम जहाँ से, हुई ज़िंदगी परायी
तुम्हें मिल गया ठिकाना, हमें मौत भी न आयी

ओ दूर के मुसाफ़िर हम को भी साथ ले ले रे
हम को भी साथ ले ले
हम रह गये अकेले

तूने वो दे दिया ग़म, बेमौत मर गये हम
दिल उठ गया जहाँ से, ले चल हमें यहाँ से
ले चल हमें यहाँ से
किस काम की ये दुनिया जो ज़िंदगी से खेले रे
हम को भी साथ ले ले, हम रह गये अकेले

सूनी हैं दिल की राहें, खामोश हैं निगाहें
नाकाम हसरतों का उठने को है जनाज़ा
उठने को है जनाज़ा
चारों तरफ़ लगे हैं बरबादियों के मेले रे
हम को भी साथ ले ले, हम रह गये अकेले

ओ दूर के मुसाफ़िर हम को भी साथ ले ले रे
हम को भी साथ ले ले

हम रह गये अकेले







<

8/9/15

ना रो ए दिल कहीं रोने से //Na Ro Aye Dil Kahin Rone Se

ना रो ए दिल  कहीं  रोने से
 Na Ro Aye Dil Kahin Rone Se
गीतकार : शकिल बदायुनी,
गायक : लता मंगेशकर,
संगीतकार : नौशाद,


           
न रो ऐ दिल कहीं रोने से तक़दीरें बदलती हैं -२ 
कहीं आँसू बहाने से तमन्नएं निकलती हैं
 न रो ऐ दिल -२ 
नतीजा मिल गया हमको किसी से दिल लगाने का -२
 सितम देखा नसीबों का करम देखा ज़माने का -२
 मुहब्बत आह भरती है, वफ़ाएं हाथ मलती हैं 
न रो ऐ दिल ... 
लिये जाते थे ऐ दिल हम तेरी नैय्या किनारे पर -२
 मुहब्बत के भरोसे पर, उम्मीदों के सहारे पर -२
 खबर क्या थी के ज़ालिम आँधियाँ भी साथ चलती है 
न रो ऐ दिल 

..नई और पुरानी खांसी के रामबाण उपचार 

शीघ्र पतन? घबराएँ नहीं ,करें ये उपचार 

पिपली  के गुण प्रयोग लाभ 

हस्त  मेथुन जनित यौन दुर्बलता के उपचार 
---

मोरे सैया जी उतरेंगे पार -उड़न खटोला //more saiyaji utarenge par

more saiyaji utarenge par
फिल्म-उड़न खटोला,
मोरे सयाजी उतरेंगे पार ,
1955


                 SONG 

haiyya ho haiyya re haiyya, haiyya ho
haiyya ho haiyya re haiyya, haiyya ho
haiyya ho haiyya re haiyya, haiyya ho
o more saiya ji, o more saiya ji utarege par ho
nadiya dhire baho, dhire baho, nadiya dhire baho
o more saiya ji, o more saiya ji utarege par ho
nadiya dhire baho, dhire baho, nadiya dhire baho
haiyya ho haiyya re haiyya, haiyya ho


chachal dhara bahata pani bahata pani, haiyya ho haiyya re haiyya
jalathal nadiya ho jalathal nadiya, haiyya ho haiyya re haiyya
nav purani sar pe khada manjhadhar ho, haiyya re haiyya
sar pe khada manjhadhar ho
nadiya dhire baho
o more saiya ji, o more saiya ji utarege par ho
nadiya dhire baho, dhire baho, nadiya dhire baho
haiyya ho haiyya re haiyya, haiyya ho


bhag talaiyya, duniya mane o duniya mane, haiyya ho haiyya
man ka sagar kou na jane, kou na jane, haiyya ho haiyya
mai janun ya mora yar ho, haiyya re haiyya
mai janun ya mora yar ho
nadiya dhire baho
o more saiya ji, o more saiya ji utarege par ho
nadiya dhire baho, dhire baho, nadiya dhire baho
haiyya ho haiyya re haiyya, haiyya ho


chalati naiya roke aandhi roke aandhi, haiyya ho haiyya re haiyya, haiyya ho
chup chup dekhe ho chup chup dekhe, haiyya ho haiyya re haiyya
bebas manjhi chhute jaye patavar ho, haiyya re haiyya
chhute jaye patavar ho
nadiya dhire baho
o more saiya ji, o more saiya ji utarege par ho
nadiya dhire baho, dhire baho, nadiya dhire baho
haiyya ho haiyya re haiyya, haiyya ho





---