1970 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1970 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

16/8/18

किसी राह में, किसी मोड़ पर/मेरे हमसफ़र (1970)

Movie/Album: मेरे हमसफ़र (1970)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, मुकेश


किसी राह में, किसी मोड़ पर
कहीं चल न देना तू छोड़ कर
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र
किसी हाल में, किसी बात पर
कहीं चल न देना तू छोड़ कर
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र

मेरा दिल कहे कहीं ये न हो
नहीं ये न हो
किसी रोज़ तुझसे बिछड़ के मैं
तुझे ढूँढती फिरूँ दर-ब-दर
मेरे हमसफ़र...

तेरा रंग साया बहार का
तेरा रूप आईना प्यार का
तुझे आ नज़र में छुपा लूँ मैं
तुझे लग न जाए कहीं नज़र
मेरे हमसफ़र...

तेरा साथ है तो है ज़िन्दगी
तेरा प्यार है तो है रोशनी
कहाँ दिन ये ढल जाए क्या पता
कहाँ रात हो जाए क्या ख़बर
मेरे हमसफ़र...


पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार


22/3/16

ज़िंदगी का सफर है ये कैसा सफर// Zindagi Ka Safar Hai Ye Kaisa Safar | Kishore Kumar | Safar 1970 Songs |...

ज़िंदगी का सफर है ये कैसा सफर
 Zindagi Ka Safar Hai Ye Kaisa Safar
गीतकार : इंदिवर,
 गायक : किशोर कुमार,
 संगीतकार : कल्याणजी आनंदजी,

          
जिन्दगी का सफ़र, हैं ये कैसा सफ़र
कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं
है ये कैसी डगर, चलते हैं सब मगर
कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं
जिन्दगी को बहोत प्यार हम ने किया
मौत से भी मोहब्बत निभायेंगे हम

हंसते हंसते जमाने से जायेंगे हम
जायेंगे पर किधर , हैं किसे ये खबर
कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं

ऐसे जीवन भी हैं जो जिए ही नहीं
जिनको जीने से पहले ही मौत आ गयी
फूल ऐसे भी हैं जो खिले ही नहीं
जिनको खिलने से पहले खिजा खा गयी
है परेशान नजर, थक गए चार अगर
कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं!


6/3/16

जाने कंहा गए वो दिन// ,Jaane Kahan Gaye Woh Din - Raj Kapoor - Mera Naam Joker - Bollywood Clas...

जाने कंहा गए वो दिन 
,Jaane Kahan Gaye Woh Din
गीतकार : हसरत जयपुरी,
 गायक : मुकेश,
 संगीतकार : शंकर जयकिशन,
चित्रपट : मेरा नाम जोकर (१९७०) /
 Lyricist : Hasrat Jaipuri,
 Singer : Mukesh,
Music Director : Shankar Jaikishan,
Movie : Mera Naam Joker (1970)

गाना

जाने कहाँ … गए वो दिन
कहते थे तेरी राह में
नज़रों हो हम बिछाएंगे …
जाने कहाँ … गए वो दिन
कहते थे तेरी राह में
नज़रों हो हम बिछाएंगे …
चाहे कहीं भी तुम रहो
चाहेंगे तुमको उम्र भर तुमको ना भूल पाएंगे
मेरे कदम जहाँ पड़े सजदे किये थे यार ने
मेरे कदम जहाँ पड़े सजदे किये थे यार ने
मुझको रुला रुला दिया … जाती हुई बहार ने

जाने कहाँ … गए वो दिन
कहते थे तेरी राह में नज़रों हो हम बिछाएंगे …
चाहे कहीं भी तुम रहो
चाहेंगे तुमको उम्र भर तुमको ना भूल पाएंगे
अपनी नज़र में आज कल, दिन भी अँधेरी रात है
अपनी नज़र में आज कल, दिन भी अँधेरी रात है
साया ही अपने साथ था साया ही अपने साथ है

जाने कहाँ … गए वो दिन, कहते थे तेरी राह में
नज़रों हो हम बिछाएंगे
चाहे कहीं भी तुम रहो चाहेंगे तुमको उम्र भर
तुमको ना भूल पाएंगे


चिकित्सा आलेख-

पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा  का  अचूक  इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका  के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि


पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 



23/10/15

किसी राह मे किसी मोड पर// Kisi Raah Mein, Kisi Mod Par

किसी राह मे किसी मोड पर
Kisi Raah Mein, Kisi Mod Par
मुकेश ,लता
mukesh,lata
1970
film - mere hum safar


     SONG


किसी राह में, किसी मोड़ पर
कहीं चल न देना तू छोड़ कर
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र
किसी हाल में, किसी बात पर
कहीं चल न देना तू छोड़ कर
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र
मेरा दिल कहे कहीं ये न हो
नहीं ये न हो
किसी रोज़ तुझसे बिछड़ के मैं
तुझे ढूँढती फिरूँ दर-ब-दर
मेरे हमसफ़र...
तेरा रंग साया बहार का
तेरा रूप आईना प्यार का
तुझे आ नज़र में छुपा लूँ मैं
तुझे लग न जाए कहीं नज़र
मेरे हमसफ़र...


तेरा साथ है तो है ज़िन्दगी
तेरा प्यार है तो है रोशनी
कहाँ दिन ये ढल जाए क्या पता
कहाँ रात हो जाए क्या ख़बर
मेरे हमसफ़र...