1973 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1973 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

1/6/16

आज सोचा तो आँसू भर आए// Hanste Zakhm (1973)-Aaj Socha To Aansu Bhar Aaye (Lata Mangeshkar)

आज सोचा तो आँसू भर आए, 
 Aaj Socha To Aansu Bhar Aaye,
लता मंगेशकर,
Hanste Zakhm,
1973,

song


मुद्दतें हों गई मुस्कुराये


हर कदम पर उधर मुड़कर देखा
उनकी महफिल से हम उठ तो आए
आज सोचा तो आंसू...


रह गई ज़िन्दगी दर्द बन के
दर्द दिल में छुपाये छुपाये
आज सोचा तो आंसू...


दिल की नाज़ुक रगें टूटती हैं
याद इतना भी कोई न आए
आज सोचा तो आंसू...

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार


7/5/16

तेरा मुझसे है पहिले का नाता कोई// Tera Mujhse Hai Pehle Ka Naata Koi | Kishore Kumar | Aa Gale Lag Jaa 197...

तेरा मुझसे है पहिले का नाता कोई ,
 Tera Mujhse Hai Pehle Ka Naata Koi ,
Kishore Kumar, 
Aa Gale Lag Jaa ,
1973,

SONG
मेरा तुझ से है पहले का नाता कोई यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई माने तू या माने न जाने तू या जाने न धुआँ-धुआँ था वो समा तू और मैं कहीं मिले थे पहले यहाँ-वहाँ जाने कहाँ देखा तुझे तो दिल ने कहा मैं भी रहा तेरे लिए जाने तू या जाने नमाने तू या माने न तू भी रही मेरे लिए जाने तू या जाने न पहले भी मैं तुझे बाहों में लेकेझूमा किया और झूमा किया माने तू या माने न देखो अभी खोना नहीं कभी जुदा होना नहीं अब खेल में यूँही रहेंगे दोनों वादा रहा ये इस शाम का जाने तू या जाने न माने तू या माने न
चिकित्सा के अनमोल रत्न

28/4/16

गुम हैं किसी के प्यार मे// Gum Hai Kisi Ke Pyar Mein | Lata Mangeshkar, Kishore Kumar | Raampur Ka ...

गुम हैं किसी के प्यार मे 
 Gum Hai Kisi Ke Pyar Mein
 Lata Mangeshkar, 
Kishore Kumar
फ़िल्म: रामपुर का लक्ष्मण 1973          

SONG 


किशोर: गुम है किसी के प्यार में, दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊँ, मैं उसका नाम
हाय राम, हाय राम
 कुछ लिखा?
 हाँ
 क्या लिखा?
 गुम है किसी के प्यार में, दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊँ, मैं उसका नाम
हाय राम, हाय राम
 अच्छा, आगे क्या लिखूँ?
 आगे?
 सोचा है एक दिन मैं उससे मिलके
कह डालूँ अपने सब हाल दिल के
और कर दूँ जीवन उसके हवाले
फिर छोड़ दे चाहे अपना बना ले
अब तो जैसे भी मेरा हो अंजाम
गुम है किसी के प्यार में, दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊँ, मैं उसका नाम,
हाय राम, हाय राम
 लिख लिया?
 हाँ
 ज़रा पढ़के तो सुनाओ
 चाहा है तुमने जिस बावरी को
वो भी सजनवा चाहे तुम्हीं को
नैना उठाए तो प्यार समझो
पलकें झुका दे तो इक़रार समझो
रखती है कब से छुपा छुपा के
 क्या?
 अपने होंठों में पिया तेरा नाम
गुम है किसी के प्यार में, दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊँ, मैं उसका नाम
हाय राम, हाय राम

पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि 



8/9/15

"यह दिल और उन की निगाहों के सायें//"ye dil aur unkee nigaahon ke saaye


यह दिल और उन की निगाहों  के साये

गीतकार : जां निसार अख्तर,
 गायक : लता मंगेशकर,
संगीतकार : जयदेव,
 Lyricist : Ja Nisaar Akhtar,
 Singer : Lata Mangeshkar,
 Music Director : Jaidev,
Movie : Prem Parbat
 1973

                  SONG 

ye dil aur unki, nigaaho ke saaye
ye dil aur unki, nigaaho ke saaye
ye dil aur unki, nigaaho ke saaye
mujhe gher lete, hai baaho ke saaye
mujhe gher lete, hai baaho ke saaye


pahaado ko chachal, kiran chumati hai
pahaado ko chachal, kiran chumati hai
havaa har nadi kaa badan chumati hai
havaa har nadi kaa badan chumati hai
yahaa se vahaa tak, hai chaaho ke saaye
yahaa se vahaa tak, hai chaaho ke saaye
ye dil aur unki nigaaho ke saaye
mujhe gher lete, hai baaho ke saaye

mujhe gher lete, hai baaho ke saaye
किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार