Sangdil लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Sangdil लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

30/3/16

ये हवा ये रात ये चाँदनी// Talat Mahmood - Ye Hawa Ye Raat Ye Chandni


ये हवा ये रात ये चाँदनी
गीतकार : राजेन्द्र कृष्ण,
गायक : तलत मेहमूद,
संगीतकार : सज्जाद,
                 गाना 
ये हवा ये रात ये चाँदनी तेरी एक अदा पे निसार है मुझे क्यूँ ना हो तेरी आरज़ू तेरी जुस्तजू में बहार है ये हवा ये रात ये चाँदनी < तुझे क्या खबर है ओ बेखबर तेरी एक नज़र में है क्या असर जो गज़ब में आये तो कहर है जो हो मेहरबां वो क़रार है मुझे क्यूँ ना हो तेरी आरज़ू तेरी जुस्तजू में बहार है ये हवा ये रात ये चाँदनी तेरी बात बात हैं दिलनशीं कोई तुझसे बढ़के नहीं हसीं हैं कली कली में जो मस्तियां तेरी आँख का ये खुमार है मुझे क्यूँ ना हो तेरी आरज़ू तेरी जुस्तजू मैं बहार है ये हवा ये रात ये चाँदनी