Sazaa लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Sazaa लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

25/6/16

तुम न जाने किस जहां मे खो गए// Tum na jane kis jahan me kho gaye..Sazaa1951- Lata -Sahir - S D Burman.....


तुम न जाने किस जहां मे खो गए ,
Tum na jane kis jahan me kho gaye,
Sazaa,
1951,
Lata,


   SONG

तुम ना जाने, किस जहां में खो गए
हम भरी दुनियाँ में, तन्हां हो गए


तुम ना जाने, किस जहां में खो गए
हम भरी दुनियाँ में, तन्हां हो गए


मौत भी आती नहीं, आस भी जाती नहीं
दिल को ये क्या हो गया, कोई शय भाती नहीं


लूट कर मेरा जहां, छूप गए हो तुम कहाँ
तुम कहाँ 
तुम कहाँ तुम कहाँ
तुम ना जाने, किस जहां में खो गए
हम भरी दुनियाँ में, तन्हां हो गए


एक जान और लाख गम, घुट के रह जाए ना दम
आओ तुमको देख लें, डूबती नज़रों से हम
लूट कर मेरा जहां, छूप गए हो तुम कहाँ
तुम कहाँ 
तुम कहाँ तुम कहाँ
.तुम ना जाने, किस जहां में खो गए
हम भरी दुनियाँ में, तन्हां हो गए


---