Yunhi Koi Mil Gaya Tha लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Yunhi Koi Mil Gaya Tha लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

30/3/16

यूं ही कोई मिल गया था // Pakeezah - Chalte Chalte Yunhi Koi Mil Gaya Tha - Lata Mangeshkar - YouT...

यूं ही कोई मिल गया था
 Chalte Chalte Yunhi Koi Mil Gaya Tha
 गीतकार : कैफी आज़मी,
गायक : लता मंगेशकर,

चलते चलते, चलते चलते यूँही कोई मिल गया था, यूँही कोई मिल गया था सरे राह चलते चलते, सरे राह चलते चलते वहीं थमके रह गई है, वहीं थमके रह गई है मेरी रात ढलते ढलते, मेरी रात ढलते ढलते जो कही गई है मुझसे, जो कही गई है मुझसे वो ज़माना कह रहा है, वो ज़माना कह रहा है के फ़साना के फ़साना बन गई है, के फ़साना बन गई है मेरी बात टलते टलते, मेरी बात टलते टलते यूँही कोई मिल गया था, यूँही कोई मिल गया था सरे राह चलते चलते, सर ए राह चलते चलते ... शब ए इंतज़ार आखिर, शब ए इंतज़ार आखिर कभी होगी मुक़्तसर भी, कभी होगी मुक़्तसर भी ये चिराग़ ये चिराग़ बुझ रहे हैं, ये चिराग़ बुझ रहे हैं मेरे साथ जलते जलते, मेरे साथ जलते जलते ये चिराग़ बुझ रहे हैं, ये चिराग़ बुझ रहे हैं मेरे साथ जलते जलते, मेरे साथ जलते जलते यूँही कोई मिल गया था, यूँही कोई मिल गया था सर ए राह चलते चलते, सर ए राह चलते चलते

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि