begam akhtar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
begam akhtar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

11/10/19

अब छलकते हुए सागर नहीं देखे जाते//begam akhtar

अब छलकते हुए 
सागर नहीं देखे जाते
 तौबा के बाद 
ये मंज़र नहीं देखे जाते 
मस्त कर के मुझे, 
औरों को लगा मुंह साक़ी
 ये करम होश में 
रह कर नहीं देखे जाते
 साथ हर एक को 
इस राह में चलना होगा
 इश्क़ में रहज़न-ओ-रहबर नहीं देखे जाते 
हम ने देखा है ज़माने का बदलना लेकिन
 उन के बदले हुए
 तेवर नहीं देखे जाते

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि


सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 


आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार