kishore kumar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
kishore kumar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

18/5/16

आ देखें ज़रा // Aa Dekhen Zara [rocky]

आ देखें ज़रा
 Aa Dekhen Zara
Movie: Rocky
  • Singer(s): Chorus, Asha Bhonsle, Kishore Kumar
  • Music Director: R D Burman
  • Lyricist: Anand Bakshi

              SONG

को: शा ला
कि: आ देखें ज़रा किसमें कितना है दम
जम के रखना कदम मेरे साथिया
आ देखें ज़रा
आ: बल बल ...
कि: किसमें कितना है दम
आ: बल बल
कि: जम के रखना कदम
आ: बल बल ...
कि: मेरे साथिया
को: शा ला -४
आर डी:आ देखें ज़रा
किसमें कितना है दम
जम के रखना कदम
मेरे साथिया
आ: आ देखें ज़रा
को: बल बल ...
किसमें कितना है दम
को: बल बल ...
जम के रखना कदम
को: बल बल ...
मेरे साथिया
कि: आगे निकल आये हम वो पीछे रह गये
आ: आगे निकल आये हम वो पीछे रह गये
आर डी:ऊपर चले आये हम वो नीछे रह गये
आ: ऊपर चले आये हम वो नीछे रह गये
दो: वो हमसे हारेंगे हम बाज़ी मारेंगे
हम उनसे क्या हैं कम, नाचेंगे ऐसे हम
नाचेंगे ऐसे हम नाचेंगे वो क्या
कि: आ देखें ज़रा
किसमें कितना है दम
जम के रखना कदम
मेरे साथिया
आ: आ देखें ज़रा
किसमें कितना है दम
जम के रखना कदम
मेरे साथिया
को: शिवप्पा शिवप्पा
को: one two three four five sixकि: हो हो हो -३
को: चा चा चा
आ: शा ला
आर डी:शिवप्पा
आ: शा ला
को: शिवप्पा
आ: शिवप्पा
को: शिवप्पा
आ: शिवप्पा
को: शिवप्पा
आर डी:सारे शहर में हमीं हैं हमसा कौन है
आ: सारे शहर में हमीं हैं हमसा कौन है
कि: देखो इधर हम यहीं हैं हमसा कौन है
आ: देखो इधर हम यहीं हैं हमसा कौन है
दो: देखेंगे देखा है जादू क्या है
यारों से जलने का काँटों पे चलने का
काँटों पे चलने का क्या है फ़ायदा
आ: आ देखें ज़रा
किसमें कितना है दम
जम के रखना कदम
मेरे साथिया
दो: आ देखें ज़रा
किसमें कितना है दम
जम के रखना कदम
मेरे साथिया

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार



28/4/16

गुम हैं किसी के प्यार मे// Gum Hai Kisi Ke Pyar Mein | Lata Mangeshkar, Kishore Kumar | Raampur Ka ...

गुम हैं किसी के प्यार मे 
 Gum Hai Kisi Ke Pyar Mein
 Lata Mangeshkar, 
Kishore Kumar
फ़िल्म: रामपुर का लक्ष्मण 1973          

SONG 


किशोर: गुम है किसी के प्यार में, दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊँ, मैं उसका नाम
हाय राम, हाय राम
 कुछ लिखा?
 हाँ
 क्या लिखा?
 गुम है किसी के प्यार में, दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊँ, मैं उसका नाम
हाय राम, हाय राम
 अच्छा, आगे क्या लिखूँ?
 आगे?
 सोचा है एक दिन मैं उससे मिलके
कह डालूँ अपने सब हाल दिल के
और कर दूँ जीवन उसके हवाले
फिर छोड़ दे चाहे अपना बना ले
अब तो जैसे भी मेरा हो अंजाम
गुम है किसी के प्यार में, दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊँ, मैं उसका नाम,
हाय राम, हाय राम
 लिख लिया?
 हाँ
 ज़रा पढ़के तो सुनाओ
 चाहा है तुमने जिस बावरी को
वो भी सजनवा चाहे तुम्हीं को
नैना उठाए तो प्यार समझो
पलकें झुका दे तो इक़रार समझो
रखती है कब से छुपा छुपा के
 क्या?
 अपने होंठों में पिया तेरा नाम
गुम है किसी के प्यार में, दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊँ, मैं उसका नाम
हाय राम, हाय राम

पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि 



14/4/16

नैनो मे सपना// Nainon Mein Sapna - Himmatwala

Himmatwala
 नैनो मे सपना, 
kishore kumar, lata, 
Nainon Mein Sapna, 

 SONG 

ता थैया ता थैया हो ओ
ता थैया ता थैया हो ओ

नैनो में सपना, सपनो में सजना

सजना पे दिल आ गया, क्यूँ सजना पे दिल आ गया

नैनो में सपना, सपनो में सजना

सजना पे दिल आ गया, क्यूँ सजना पे दिल आ गया

कई अलबेले देखे, जवानी के रेले देखे

हसीनो के मेले देखे दिल पे ओ हो
तुही छा गया, तुही छा गया
अरे नैनो में सपना, सपनो में सजनी
सजनी पे दिल आ गया, के सजनी पे दिल आ गया

ता थैया ता थैया हो ओ 
ता थैया ता थैया हो ओ
ना मिला कोई भी तुझसा मैंने देखी हर गली
मैंने छोड़ा सारा ज़माना मैं तेरे संग चली
तन तेरा खिला खिला चमन तू जवानी की कलि
तेरी खुशबू ही मेरी सांसो में पल पल है पली
बाहों का सहारा मिला तेरा जो इशारा मिला
मुझे जग सारा मिला मैं तो हो हो
तुझे पा गया, तुझे पा गया
नैनो में सपना, सपनो में सजना
सजना पे दिल आ गया, क्यूँ सजना पे दिल आ गया

सुन जरा अनाड़ी सुन जरा कहे क्या मेरी चूडियाँ
नागिन बन बन के डसती है मुझको अब ये दूरियाँ
दूरियाँ ये मजबुरिया है बस कुछ ही साल की
लेके आऊंगा तेरे घर मैं तो एक दिन पालकी
नीला गगन होगा सच्चा बंधन होगा
अपना मिलन होगा मन को हो हो 
तुही भा गया हाँ तुही भा गया
नैनो में सपना, सपनो में सजना
सजना पे दिल आ गया, क्यूँ सजना पे दिल आ गया
अरे नैनो में सपना, सपनो में सजनी
सजनी पे दिल आ गया, के सजनी पे दिल आ गया


13/4/16

तुम बिन जाऊ कहाँ // Tum Bin Jaun Kaha Film: Pyar Ka Mausam (1969) with Sinhala Subtitles

तुम बिन जाऊ कहाँ,
 Tum Bin Jaun Kaha,
 Film: Pyar Ka Mausam,
1969,
  किशोर कुमार,

       song


Tum bin jaaoon kahan 
Ke duniya mein aake
Kuch na phir chaaha kabhi tumko chaahke
Tum bin, ay, jaaoon kahan
Ke duniya mein aake
Kuch na phir chaaha kabhi tumko chaahke
Tum bin

Reh bhi sakoge tum kaise hoke mujhse judaa
Phat jaayegi deewaarein sunke meri sada
Aana hoga tumhe mere liye saathi meri
Sooni raah ke
Tum bin jaaoon kahan
Ke duniya mein aake
Kuch na phir chaaha kabhi tumko chaahke
Tum bin

Itni akeli si pehle, thi yahi duniya
Tumne nazar jo milai, bas gayi duniya
Dil ko mili jo tumhari lagan, diye jal gaye
Meri aah se
Tum bin jaaoon kahan
Ke duniya mein aake
Kuch na phir chaaha kabhi tumko chaahke
Tum bin

Dekho mujhe sar se kadam tak, sirf pyaar hoon main
Gale se laga lo ke tumhaara beqaraar hoon main
Tum kya jaano ke bhatakta phira kis kis gali
Tumko chaahke
Tum bin, ay, jaaoon kahan
Ke duniya mein aake

Kuch na phir chaaha kabhi tumko chaahke

31/3/16

ये रातें ये मौसम// Ye Raaten Ye Mausam - Dilli Ka Thug

ये रातें ये मौसम 
 Ye Raten Ye Mausam
 Dilli Ka Thug
Singers: Kishore Kumar , Asha Bhosle
1958

                SONG 

ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा
 कहा दो दिलों ने, की होंगे न मिल कर, कभी हम जुदा
 ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा

 ये क्या बात है आज की चांदनी में    \- २
के हम खो गये प्यार की रागिनी में
 ये बाहों में बाहें, ये बहकी निगाहें
लो आने लगा ज़िंदगी का मज़ा
 ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा

 सितारों की महफ़िल ने करके इशारा
कहा अब तो सारा जहाँ है तुम्हारा
 मुहब्बत जवाँ हो, खुला आसमाँ हो
करे कोई दिल आरज़ू और क्या
 ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा

 क़सम है तुम्हे तुम अगर मुझसे रूठे  
 रहे सांस जब तक, ये बंधन न टूटे>
 तुम्हें दिल दिया है, ये वादा किया है
सनम मैं तुम्हारी रहूँगी सदा
 ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा
 कहा दो दिलों ने, की होंगे न मिल कर,
कभी हम जुदा
 ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा

पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि


22/3/16

जिंदगी के सफर मे गुजर जाते// Zindagi Ke Safar Mein Guzar Jaate | Kishore Kumar | Aap Ki Kasam 1974 Songs


जिंदगी के सफर मे गुजर जाते
गीतकार : आनंद बक्षी,
गायक : किशोर कुमार,
 संगीतकार : राहुलदेव बर्मन,


 
ज़िन्दगी के सफ़र में गुज़र जाते हैं जो मकाम
वो फिर नहीं आते, वो फिर नहीं आते

फूल खिलते हैं, लोग मिलते हैं
फूल खिलते हैं, लोग मिलते हैं मगर
पतझड़ में जो फूल मुरझा जाते हैं
वो बहारों के आने से खिलते नहीं
कुछ लोग एक रोज़ जो बिछड़ जाते हैं
वो हजारों के आने से मिलते नहीं
उम्र भर चाहे कोई पुकारा करे उनका नाम
वो फिर नहीं आते...

आँख धोखा है, क्या भरोसा है
आँख धोखा है, क्या भरोसा है सुनो
दोस्तों शक दोस्ती का दुश्मन है
अपने दिल में इसे घर बनाने न दो
कल तड़पना पड़े याद में जिनकी
रोक लो रूठ कर उनको जाने न दो
बाद में प्यार के चाहे भेजो हजारों सलाम
वो फिर नहीं आते...

सुबहो आती है, रात जाती है
सुबहो आती है, रात जाती है यूँ ही
वक़्त चलता ही रहता है रुकता नहीं



एक पल में ये आगे निकल जाता है
आदमी ठीक से देख पाता नहीं
और परदे पे मंज़र बदल जाता है
एक बार चले जाते हैं जो दिन-रात, सुबहो-शाम
वो फिर नहीं आते...
किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचा




वो शाम कुछ अजीब थी// Woh Shaam Kuch Ajeeb Thi | Kishore Kumar | Khamoshi 1969 Songs | Waheeda...


गाना / Title: वो शाम कुछ अजीब थी - vo shaam kuchh ajiib thii
 चित्रपट / Film: Khamoshi
 संगीतकार / Music Director: हेमंत-(Hemant)
 गीतकार / Lyricist: गुलजार-(Gulzar)
 गायक / Singer(s): किशोर कुमार-(Kishore Kumar

         
वोह शाम कुछ अजीब थी, यह शाम भी अजीब है,
वोह कल भी पास पास थी वोह आज भी करीब है..
वोह शाम कुछ अजीब थी

झुकी हुई निगाहो में, कही मेरा ख़याल था
दबी दबी हंसी मे इक, हसी सा गुलाल था
मै सोचता था, मेरा नाम गुनगुना रही है वोह..
न जाने क्यो लगा मुझे, के मुस्कुरा रही है वोह 
वोह शाम कुछ अजीब थी

मेरा ख़याल है अभी झुकी हुई निगाह मे
खुली हुई हसी भी है, दबी हुई सी चाह मे
मै जनता हू, मेरा नाम गुनगुना रही है वो
यही ख़याल है मुझे, के साथ आ रही है वो
वोह शाम कुछ अजीब थी, यह शाम भी अजीब है
वोह कल भी पास पास थी वोह आज भी करीब है
वोह शाम कुछ अजीब थी









ज़िंदगी का सफर है ये कैसा सफर// Zindagi Ka Safar Hai Ye Kaisa Safar | Kishore Kumar | Safar 1970 Songs |...

ज़िंदगी का सफर है ये कैसा सफर
 Zindagi Ka Safar Hai Ye Kaisa Safar
गीतकार : इंदिवर,
 गायक : किशोर कुमार,
 संगीतकार : कल्याणजी आनंदजी,

          
जिन्दगी का सफ़र, हैं ये कैसा सफ़र
कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं
है ये कैसी डगर, चलते हैं सब मगर
कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं
जिन्दगी को बहोत प्यार हम ने किया
मौत से भी मोहब्बत निभायेंगे हम

हंसते हंसते जमाने से जायेंगे हम
जायेंगे पर किधर , हैं किसे ये खबर
कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं

ऐसे जीवन भी हैं जो जिए ही नहीं
जिनको जीने से पहले ही मौत आ गयी
फूल ऐसे भी हैं जो खिले ही नहीं
जिनको खिलने से पहले खिजा खा गयी
है परेशान नजर, थक गए चार अगर
कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं!


मेरा जीवन कोरा कागज़ //Mera Jeevan Kora kagaz korahi reh gaya

मेरा जीवन कोरा कागज़
गीतकार : एम. जी. हशमत,
 गायक : किशोर कुमार,
संगीतकार : कल्याणजी आनंदजी,
चित्रपट : कोरा कागज़ (१९७४) /


                    गाना 
मेरा जीवन कोरा कागज़ कोरा ही रह गया
जो लिखा था
जो लिखा था आँसुओं के संग बह गया
मेरा जीवन ...

इक हवा का झोंका आया
टूटा डाली से फूल 
ना पवन की ना चमन की
किसकी है ये भूल 
खो गई खुशबू हवा में कुछ न रह गया
मेरा जीवन ...उड़ते पंछी का ठिकाना
मेरा न कोई जहाँ 
ना डगर है ना खबर है
जाना है मुझको कहाँ 
बन के सपना हमसफ़र का साथ रह गयामेरा जीवन ...
दुख के अन्दर सुख की ज्योती
दुख ही सुख का ज्ञान 
दर्द सह के जन्म लेता
हर कोई इनसान 
वो सुखी है जो खुशी से दर्द सह गया
मेरा जीवन ...
किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि
 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 


सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि
 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचा

दिलवर मेरे कब तक मुझे //Satte Pe Satta - Dilbar Mere Kab Tak Mujhe - Kishore Kumar

दिलवर मेरे कब तक मुझे 
Dilbar Mere Kab Tak Mujhe
गीतकार : गुलशन बावरा,
 गायक : किशोर कुमार,
 संगीतकार : राहुलदेव बर्मन


दो लफ़्ज़ों की है, दिल की कहानी या है मोहब्बत, या है जवानी दिल की बातों का, मतलब न पूछो कुछ और हमसे, बस अब न पूछो जिसके लिये है, दुनिया दीवानी या है मोहब्बत... ये कश्ती वाला, क्या गा रहा था कोई इसे भी, याद आ रहा था इससे पुरानी, यादें पुरानी या है मोहब्बत... इस ज़िंदगी के, दिन कितने कम है कितनी है ख़ुशियाँ, और कितने ग़म हैं लग जा गले से, रुत है सुहानी या है मोहब्बत...
किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि

  प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

 पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि


23/10/15

जिन रातों की भोर नहीं// jin raaton ki bhor nahin hai. दूर गगन की छांव मे

जिन रातों की भोर नहीं,
jin raaton ki bhor nahin hai.
दूर गगन की छांव मे
1964
kishore kumar 


 SONG 


जिन रातों की भोर नहीं है
आज ऐसी ही रात आई
जो जिस ग़म में डूब गया है सागर की है गहराई
रात के तारों तुम ही बताओ मेरी वो मंज़िल है कहाँ
पागल बनकर जिसके लिये मैं खो बैठा हूँ दोनो जहाँ
जिन रातों ...
राह किसी की हुई ना रोशन जलना मेरा बेकार गया
लूट गई तक़दीर मुझे मैं जीत के बाज़ी हार गया
जिन रातों की भोर नहीं है ..
.

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि