mahendra kapoor लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
mahendra kapoor लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

5/8/16

गा रही है जिंदगी हर तरफ बहार मे // Gaa rahi hai zindagi - Aanchal

गा रही है जिंदगी  हर तरफ बहार मे 
 Gaa rahi hai zindagi 
फिल्मAanchal
वर्ष1960
संगीत निर्देशकR D Burman, C Ramchandran
गायकAsha Bhosle and Mahendra Kapoor

गीतकार  Pradeep and Majrooh Sultanpuri


SONG


माँ --गा रही है ज़िन्दगी हर तरफ बहार में किस लिए
आशा --चार चांद लग गए है तेरे मेरे प्यार में इस लिए २
माँ-- आ गया आँचल किसी का आज मेरे हाथ में २
आशा-- है चकोरी आज अपने चन्द्रमा के साथ में २
माँ-- चल पड़ी दो किश्तियाँ आज इक धार में किस लिए
आशा --चार चाड लग गए है तेरे मेरे प्यार में इस लिए
माँ --गा रही है ज़िन्दगी हर तरफ बहार में किस लिए
आशा --चार चाँद लग गए है तेरे मेरे प्यार में इस लिए
आशा-- छू रही तन मन को मेरे प्रीत की पुरवाईयाँ
दूर की अम्ब्रायियो में गूंजती शहनाईयां २
माँ सौ गुना निखार है आज तो सिगार में किस लि


किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि



-------------

12/4/16

कब तक शमा जली // Kab Talak Shama Jali - Mahendra Kapoor & Lata Mangeshkar - Painter Babu ...

कब तक शमा जली,
 Kab Talak Shama Jali,
 Mahendra Kapoor,
Lata Mangeshkar,
Painter Babu
year  1983

            SONG


Kab talak shama jali yaad nahi
Kab talak shama jali yaad nahi
Shame gam kaise dhali,
Shame gam kaise dhali yaad nahi
Shame gam kaise dhali yaad nahi
Kab talak shama jali yaad nahi
Shame gam kaise dhali yaad nahi
Is kadar yaad hai apne the sabhi
Is kadar yaad hai apne the sabhi
Is kadar yaad hai apne the sabhi
Kisne kya chal chali,
Kisne kya chal chali yaad nahi
Kisne kya chal chali yaad nahi
Kab talak shama jali yaad nahi
Shame gam kaise dhali yaad nahi

Hum zamane me kuch aise bhatke
Hum zamane me kuch aise bhatke
Hum zamane me kuch aise bhatke
Ab to unki ab to unki ha ab to unki
Ab to unki bhi gali yaad nahi
Yaad nahi,
Shame gam kaise dhali yaad nahi
Abar tha zam tha par aap na the
Abar tha zam tha, oo ho
Abar tha zam tha par aap na the
Abar tha zam tha par aap na the
Wo ghadi kaise tali,
Wo ghadi kaise tali yaad nahi
Wo ghadi kaise tali yaad nahi
Kab talak shama jali yaad nahi
Shame gam kaise dhali yaad nahi

Kat gayi umar kisi tarha kati
Kat gayi umar kisi tarha kati
Kat gayi umar kisi tarha kati
Wo buri thi,
Wo buri thi haye wo buri thi
Wo buri thi ke bhali yaad nahi
Kab talak shama jali yaad nahi
Kab talak shama jali yaad nahi
Shame gam kaise dhali
Shame gam kaise dhali
Shame gam kaise dhali
Shame gam kaise dhali
Shame gam kaise dhali yaad nahi.


कान दर्द,कान पकना,बहरापन के उपचार

नीलगिरी तेल के स्वास्थ्य लाभ

सुहागा के गुण,प्रयोग,उपचार

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*


चलो बुलावा आया है // Jai Mata Di - Chalo Bulawa Aaya Hain - Avtaar (1983)

चलो बुलावा आया है
Jai Mata Di - Chalo Bulawa Aaya Hai,
Avtaar,
1983,
महेंद्र कपूर,

         SONG


         
दोहा: माता जिनको याद करे, वो लोग निराले होते हैं |
माता जिनका नाम पुकारे, किस्मत वाले होतें हैं ||

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है |
ऊँचे परबत पर रानी माँ ने दरबार लगाया है ||

सारे जग मे एक ठिकाना, सारे गम के मारो का,
रास्ता देख रही है माता, अपने आख के तारों का |
मस्त हवाओं का एक झोखा यह संदेसा लाया है ||

जय माता की कहते जाओ, आने जाने वालो को,
चलते जाओ तुम मत देखो अपने पो के षालों को |
जिस ने जितना दरद सहा है, उतना चैन भी पाया है ||

वैष्णो देवी के मन्दिर मे , लोग मुरदे पाते है,
रोते रोते आते है, हस्ते हस्ते जाते है |
मे भी मांग के देखूं, जिस ने जो माँगा वो पाया है ||

मे तो भी एक माँ हूं माता,
माँ ही माँ को पहचाने |
बेटे का दुःख क्या होता है, और कोई यह क्या जाने |
उस का खून मे देखूं कैसे, जिस को दूध पिलाया है ||

प्रेम से बोलो, जय माता दी |
ओ सारे बोलो, जय माता दी |
वैष्णो रानी, जय माता दी |
अम्बे कल्याणी, जय माता दी |
माँ भोली भाली, जय माता दी |
माँ शेरों वाली, जय माता दी |
झोली भर देती, जय माता दी |
संकट हर लेती, जय माता दी |
ओ जय माता दी, जय माता दी ||


गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि

सेक्स का महारथी बनाने और मर्दानगी बढ़ाने वाले अचूक नुस्खे



मेरे देश की धरती // Mere Desh Ki Dharti - Upkar [1967] - Mahendra Kapoor


मेरे देश की धरती
Movie/Album: उपकार
1967
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: गुलशन बावरा
Performed By: महेंद्र कपूर
   
   
गीत 

मेरे देश की धरती
सोना उगले
उगले हीरे मोती
बैलों के गले में जब घुंघरू
जीवन का राग सुनाते हैं
गम कोसों दूर हो जाता है
खुशियों के कँवल मुसकाते है
सुन के रहट की आवाजें
यूं लगे कहीं शहनाई बजे
आते ही मस्त बहारों के
दुल्हन की तरह हर खेत सजे
मेरे देश की धरती...
जब चलते हैं इस धरती पे हल
ममता अंगडाइयाँ लेती है
क्यों ना पूजे इस माटी को
जो जीवन का सुख देती है
इस धरती पे जिसने जनम लिया
उसने ही पाया प्यार तेरा
यहाँ अपना पराया कोइ नहीं
है सब पे माँ, उपकार तेरा
मेरे देश की धरती...
ये बाग़ है गौतम नानक का
खिलते हैं अमन के फूल यहाँ
गांधी, सुभाष, टैगोर, तिलक
ऐसे हैं चमन के फूल यहाँ
रंग हरा हरी सिंह नलवे से
रंग लाल है लाल बहादूर से
रंग बना बसन्ती भगत सिंह
रंग अमन का वीर जवाहर से
मेरे देश की धरती...,

पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि



12/10/15

नीले गगन के तले धरती का प्यार पले //Neele Gagan Ke Tale


नीले गगन के तले धरती का प्यार पले
Neele Gagan Ke Tale
गीतकार : साहिर लुधियानवीले
गायक : महेंद्र कपूर,
संगीतकार : रवी


              SONG


हे...नीले गगन के तले

धरती का प्यार पले 

हे...नीले गगन के तले

धरती का प्यार पले

ऐसे ही जग में आती हैं सुबहें 

ऐसे ही शाम ढले 

हे...नीले गगन के तले



शबनम के मोती, फूलों पे बिखरे 
दोनों की आस फले, हे नीले...

बलखाती बेलें, मस्ती में खेलें 
पेड़ों से मिलके गले, हे नीले...

नदियाँ का पानी दरिया से मिलके 
सागर की और चले, 


हे...नीले गगन के तले

तुझको मेरा प्यार पुकारे // GUMRAH - Tujhko Mera Pyar Pukare (Duet)

तुझको मेरा प्यार पुकारे
 GUMRAH 
 Tujhko Mera Pyar Pukare 

                 SONG 
इन हवाओं में, इन फ़िज़ाओं में तुझको मेरा प्यार पुकारे
आजा आजा रे, तुझको मेरा प्यार पुकारे
रुक ना पाऊं मैं, खिचती आऊं मैं, दिल को जब दिलदार पुकारे
आजा आजा रे तुझको मेरा पुकारे
तुझसे रंगत, तुझसे मस्ती इन झरनो में, इन फूलों में
आजा आजा रे
तेरे दम से मेरी हस्ती झूले चाहत के झूलों में
मचली जायें शोख उमंगे, दो बाहों का हार पुकारे
ज़ुल्फ़ों का हर पेंच बुलाये, आँचल का हर तार पुकारे
दिल में तेरे दिल की धड़कन, आँख में तेरी आँख का जादु
लब पर तेरे लब के संग, साँस में तेरी साँस की खुशबू
आजा आजा रे, तुझको मेरा प्यार पुकारे

दिल को जब दिलदार पुकारे

इन हवाओं में, इन फ़िज़ाओं में तुझको मेरा प्यार पुकारे
आजा आजा रे, तुझको मेरा प्यार पुकारे

रुक ना पाऊं मैं, खिंचती आऊं मैं
लौट रही हैं मेरी सदायें दीवरों से सर टकरा के
कल बाहों का हार मिला था, आज अश्कों का हार पुकारे
हाथ पकड़ कर चलने वाले हो गये रुख़सत हाथ छुड़ाके
उनको कुछ भी याद नहीं है, अब कोई सौ बार पुकारे
इल्म नहीं था इतनी जल्दी खतम फ़साने हो जायेंगे
तुम बेगाने बन जाओगे, हम दीवाने हो जायेंगे
आजा आजा रे, तुझको मेरा प्यार पुकारे


*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) की अचूक औषधि 


चलो एक बार फिर से अजनबी बन जाएँ// Chalo Ek Baar Phir Se


चलो इक बार फिर से,
गीतकार : साहिर लुधियानवी,
गायक : महेंद्र कपूर,
चित्रपट : गुमराह 
 Saahir Ludhiyanvi,
 Mahendra Kapoor,
 Gumrah
 1963

              गाना

चलो इक बार फिर से, अजनबी बन जाएं हम दोनो
चलो इक बार फिर से ...

न मैं तुमसे कोई उम्मीद रखूँ दिलनवाज़ी की
न तुम मेरी तरफ़ देखो गलत अंदाज़ नज़रों से
न मेरे दिल की धड़कन लड़खड़ाये मेरी बातों से
न ज़ाहिर हो तुम्हारी कश्म\-कश का राज़ नज़रों से
चलो इक बार फिर से ...

तुम्हें भी कोई उलझन रोकती है पेशकदमी से
मुझे भी लोग कहते हैं कि ये जलवे पराए हैं
मेरे हमराह भी रुसवाइयां हैं मेरे माझी की \- २
तुम्हारे साथ भी गुज़री हुई रातों के साये हैं
चलो इक बार फिर से ...

तार्रुफ़ रोग हो जाये तो उसको भूलना बेहतर
ताल्लुक बोझ बन जाये तो उसको तोड़ना अच्छा
वो अफ़साना जिसे अंजाम तक लाना ना हो मुमकिन \- २
उसे एक खूबसूरत मोड़ देकर छोड़ना अच्छा
चलो इक बार फिर से ...
पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि


.